बचपन में बहुतों को पतंगबाज़ी का शौक होता था. लट्ठेदार से लेकर मानदार तक और तौख़ल से लेकर पट्टेदार तक सारी पतंगे चाहिए होती थीं. इसके लिए कभी-कभी पिता जी की जेब से 2-4 रुपये वारे-न्यारे कर दिए जाते थे. अब भई, हर उम्र की अपनी तलब होती है, इस उम्र में इतना चल जाया करता था. लेकिन अब इंडिया डिजिटल हो गया है और जो आंखें आसमान में पतंग के लिए टकटकी लगाए रखती थीं, वो PUBG Mobile में अटक गई हैं. 

Source: twitter

बच्चों के PUBG का शौक पिताओं के लिए ख़ौफ़ बन गया है. बहुत से बच्चे अपना सारा काम-धाम छोड़कर मोबाइल में ही किसी न किसी का चिकन डिनर बनाये देते हैं. ऐसे में ऑनलाइन गेमिंग का ये कीड़ा अब पीड़ा पहुंचाने लगा है. 

 ताज़ा उदाहरण पंजाब के खागर का है. यहां एक लड़के ने PUBG Mobile अकाउंट को अपग्रेड करने के लिए अपने पिता को 16 लाख रुपये की चपत लगा दी. रिपोर्ट के मुताबिक़, PUBG Mobile गेम के अंदर खरीदारी करने के लिए एक 17 वर्षीय लड़के ने अपने माता-पिता के बैंक अकाउंट से 16 लाख रुपये खर्च कर डाले. ये पैसा पिता की ज़िंदगी भर की कमाई थी, जिसे उन्होंने अपने इलाज के लिए जमा किया था.

Source: sensortower

Tribune India की रिपोर्ट के मुताबिक़, माता-पिता ने बताया कि उनके बेटे की पहुंच तीन बैंक अकाउंट तक थी, जिसका इस्तेमाल वो PUBG Mobile अकाउंट को अपग्रेड करने के लिए करता था. सिर्फ़ यही नहीं, वो कथित तौर पर इन पैसों से अपने साथियों के लिए भी ऐप में खरीदारी करता था. 

पिता सरकारी कर्मचारी हैं और बीमार रहते हैं. उनकी पोस्टिंग बाहर है इसलिए लड़का अपनी मां के साथ रहता है. पिता ने बताया कि, ‘उसने सभी लेन-देन करने के लिए मां के मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल किया और अकाउंट से डेबिट हुई राशि के बारे में आने वाले बैंक के मैसेजों को हटा दिया’. 

Source: sensortower

घरवालों को यही लगता था कि लड़का मोबाइल का इस्तेमाल ऑनलाइन पढ़ाई के लिए कर रहा है. हालांकि, परिवार को अपने लड़के के इस कारनामे के बारे में जानकारी बैंक स्टेटमेंट के ज़रिए लगी. उसके बाद अपने लड़के की ये लत छुड़वाने के लिए उन्होंने उसे एक रिपेयरिंग की दुकान पर बैठा दिया है. पिता का कहना है कि, ‘मैं उसे घर में खाली बैठने नहीं दे सकता और उसे पढ़ने तक के लिए भी मोबाइल फ़ोन नहीं मिलेगा’.