रेलवे सुरक्षा बल, पुणे ने शुक्रवार को यात्रियों की जांच के लिए एक रोबोट, 'कैप्टन अर्जुन' को लॉन्च किया है. 'कैप्टन अर्जुन' को लॉन्च करना यात्रियों की कोरोना स्क्रीनिंग और सर्वेलन्स को बेहतर करने की दिशा में एक नया क़दम है. ये रोबोट ट्रेन पर सवार होने से पहले यात्रियों की जांच करेगा और असामाजिक तत्वों पर भी नज़र रखेगा.

रोबोट 'कैप्टन अर्जुन' को शुक्रवार शाम ऑनलाइन लॉन्च किया गया था. इस अवसर पर महाप्रबंधक, संजीव मित्तल ने रेलवे सुरक्षा बल के इनोवेशन की सराहना करते हुए कहा कि

रोबोट 'कैप्टन अर्जुन' किसी भी संभावित संक्रमण से यात्रियों और कर्मचारियों की रक्षा करेगा और इसकी निगरानी से सिस्टम बेहतर सुरक्षा प्रदान कर पायेगा.
Source: ANI

कैप्टन अर्जुन थर्मल स्क्रीनिंग करता है और तापमान को डिजिटल डिस्प्ले पैनल में 0.5 सेकंड के रिस्पॉन्स टाइम के साथ रिकॉर्ड करता है. यदि तापमान निर्धारित सीमा से अधिक होता है तो एक ऑटोमैटिक अलार्म बजाने लगता है.

Source: ANI

कैप्टन अर्जुन आवाज़ और वीडियो के ज़रिये Two-way Communication Mode से लैस है और स्थानीय भाषा में भी बोल सकता है. स्पीकर्स की मदद से ये COVID-19 पर जागरूकता का संदेश भी दे सकता है.

कैप्टन अर्जुन के पास सेंसर-आधारित सैनिटाइज़र और मास्क डिस्पेंसर भी हैं और वो चल सकता है. रोबोट में बैटरी बैकअप के साथ फ़्लोर सैनिटाइजे़शन की सुविधा है. इसमें ऐसे पहिये लगे हैं जो सभी प्रकार की सतहों पर चल सकते हैं.

रेलवे की ये नई पहल शानदार है.