दिल्ली के रानी झांसी रोड़ पर बीते रविवार लगी भीषण आग में 43 लोगों की जान चली गई. ये आंकड़ा और भी बढ़ सकता था अगर फ़ायर फ़ाइटर राजेश शुक्ला ने अपनी जान पर खेलकर 11 लोगों की जान न बचाई होती. लोगों को बचाते हुए वो भी घायल हो गए और उन्हें भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

Rajesh Shukla the Fireman
Source: hindustantimes

रियल लाइफ़ हीरो बने राजेश शुक्ला फ़िलहाल दिल्ली के लोक नायक अस्पताल में भर्ती हैं. यहां पर उन्होंने एएनआई से बात करते हुए कहा कि अगर समय रहते उन्हें इसकी ख़बर मिल गई होती तो वो और लोगों की भी जान बचा सकते थे. उन्होंने लोगों से अपील की है कि वो आग लगने की जानकारी जितनी जल्दी हो दमकल विभाग को दें, ताकि समय रहते उस पर काबू पाया जा सके.

सोशल मीडिया पर भी राजेश की दिलेरी की चर्चा हो रही है. दिल्ली सरकार के कैबिनेट मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ने भी ट्वीट कर उन्हें रियल लाइफ़ हीरो बताया है.

राजेश शुक्ला झारखंड के रहने वाले हैं. वो साल 2004 से दिल्ली के दमकल विभाग में काम कर रहे हैं. फ़िलहाल वो पुरानी दिल्ली के दमकल केंद्र में Assistant Division Officer के पद पर कार्यरत हैं. वो 2001 में गुजरात में आए भूकंप और दिल्ली में हुई कई आग की दुर्घटनाओं में लोगों को बचाने में अपना योगदान दे चुके हैं.

Rajesh Shukla the Fireman
Source: orissapost

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली के रानी झांसी रोड़ पर लगी आग इतनी भयावह थी कि लोग इसे उपहार कांड के बाद दिल्ली में हुआ सबसे बड़ा अग्निकांड मान रहे हैं. इस आग पर काबू पाने के लिए दमकल विभाग के 150 कर्मचारियों को लगाना पड़ा था. जिस फ़ैक्टरी में आग लगी थी उनके मालिकों के ख़िलाफ दिल्ली पुलिस ने एफ़आईआर दर्ज कर ली है. इस केस की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच करेगी.

News से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.