राष्ट्रीय कामधेनु आयोग ने सोमवार को गाय के गोबर से बनी एक चिप लॉन्च की है. इस अवसर पर आरकेए के अध्यक्ष वल्लभ भाई कथीरिया ने दावा किया है कि इस चिप से मोबाइल हैंडसेट्स का रेडिएशन काफ़ी हद तक कम हो जाता है.

Source: indiatimes

प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान कथीरिया ने कहा कि गाय के गोबर की चिप मोबाइल हैंडसेट से विकिरण को कम करती है और इसलिए ये बीमारियों से बचाव का काम करती है. ये टिप्पणी उन्होंने देश में गाय के गोबर उत्पादों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ‘कामधेनु दीपावली अभियान’ नामक एक राष्ट्रव्यापी अभियान के शुभारंभ के दौरान की है.

इस चिप को 'गौसत्व कवच' नाम दिया गया है और इसे और राजकोट के श्रीजी गौशाला द्वारा बनाया गया है. इसके साथ ही कामधेनु आयोग ने गाय के गोबर से बने कई दूसरे प्रॉडक्ट भी लॉन्च किए, जिनका लक्ष्य इस दीवाली पर प्रदूषण कम करने का है.

Source: medium

कथीरिया ने कहा, 'हमने देखा है कि इसे मोबाइल के साथ रखते हैं तो रेडिएशन काफ़ी हद तक कम हो जाता है. बीमारी से बचना है तो आगे आने वाले वक़्त में ये भी काम आने वाला है.'

उन्होंने आगे कहा, ‘अगर ये (गोबर चिप) घर में लाया जाता है, तो पूरा घर पर्यावरण अनुकूल और विकिरण मुक्त हो जाएगा. ये सब विज्ञान द्वारा सिद्ध किया गया है.’

Source: ft

इसके साथ ही, मीडिया बातचीत के दौरान कथीरिया ने लोगों से अपील की है कि वे इस दीवाली चीन निर्मित दीयों के इस्तेमाल से बचें.

उन्होंने बताया कि कैसे कामधेनु दीपावली अभियान का शुभारंभ गायों के गोबर आधारित उत्पादों जैसे मिट्टी के दीपक, मोमबत्तियां, धूप और अन्य सामानों को बनाने में किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि ये कैंपेन पीएम मोदी की 'मेक इन इंडिया' अवधारणा को, ख़ासतौर से इस दीवाली में बढ़ावा देने के उद्देश्य से चलाई जा रही है.