सोशल मीडिया पर इन दिनों एक पोस्ट धड़ल्ले से शेयर की जा रही. इस पोस्ट में दावा किया गया है कि राजस्थान में भगवान शिव की एक मूर्ती बन रही है, जो स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी से भी बड़ी होगी. क्या इस वारयल पोस्ट की सच्चाई जानते हैं आप?

ये तथ्य बिल्कुल सही है कि राजस्थान के नाथद्वारा में भगवान शिव की एक मूर्ती बनाई जा रही है. इस मूर्ती में भगवान शिव ध्यान की मुद्रा में बैठे हैं. इसे एक प्राइवेट फ़र्म मिराज ग्रुप बना रही है. इसका 80 फ़ीसदी काम पूरा हो चुका है और ये इस साल तक तैयार हो जाएगी.

पिछले 4 सालों इसका निर्माण हो रहा है. इसमें अब तक सीमेंट के लगभग 3 लाख बोरे, 2500 टन एंगल, 2500 टन सरिया इस्तेमाल हो चुका है लेकिन पोस्ट में जो ये दावा है कि ये शिव की मूर्ती स्टैच्यू ऑफ़ युनिटी का रिकॉर्ड तोड़ देगी, ये ग़लत है.

क्योंकि वहां जो मूर्ती बन रही है, उसकी ऊंचाई करीब 351 फ़ीट होगी जबकि, स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी की ऊंचाई 597 फ़ीट है. हालांकि ये मूर्ती दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा नहीं होगी, लेकिन दुनियाभर में मौजूद भगवान शिव की ये सबसे ऊंची मूर्ती ज़रूर बन जाएगी.

यानी कि पोस्ट में बताई गईं बातें आधी सच हैं और आधी ग़लत. इसलिए आपसे निवेदन है किसी भी पोस्ट को सोशल मीडिया पर शेयर करने से पहले, उसकी जांच-पड़ताल अवश्य कर लें.