शोधार्थियों ने एक ऐसा रियूज़ेबल क्लॉथ मास्क बनाया है जो सूरज की रौशनी में 99.9 प्रतिशत बैक्टीरिया और वायरस को मार सकता है. धूप में सिर्फ़ 60 मिनट रखने पर ही ये क्लॉथ मास्क वायरस का ख़ात्मा कर देगा. 

India Today की एक रिपोर्ट के अनुसार, ACS Applied Materials and Interfaces Journal में छपी एक स्टडी में इस बात का खुलासा हुआ है. हालांकि लाइव बैक्टीरिया और वायरस संक्रामक हो सकते हैं.  

Source: Pledge Times

University of California के शोधार्थियों द्वारा बनाया गया ये कॉटन फ़ैब्रिका मास्क धूप मिलने पर Reactive Oxygen Species रिलीज़ करता है जो मास्क पर जमे किटाणुओं को मारता है.  

इस क्लॉथ मास्क को डिसइंफ़ेक्ट करने के लिए बस घंटा भर धूप में या उससे ज़रा ज़्यादा वक़्त के लिए ऑफ़िस या बिल्डिंग लाइट में रख दीजिए, मास्क डिसइंफ़ेक्ट हो जाएगा. शोधार्थियों ने ये मास्क बनाने के लिए साधारण कॉटन में 2-Diethylaminoethyl Chloride के Positively Charged Chains जोड़े. इसके बाद मॉडिफ़ाइड कॉटन को Negatively Charged Photosensitizer के सॉल्युशन में डाई किया गया.  

Source: Health Europia

शोधार्थियों का कहना है कि इस कॉटन मास्क को 10 बार धोकर और धूप में रखकर 1 हफ़्ते तक इस्तेमाल किया जा सकता है. 1 हफ़्ते तक इस मास्क की ऐंटीमाइक्रोबियल एक्टिविटी ख़त्म नहीं होगी.  

अलग-अलग तरह के कपड़े से बने मास्क छींकने और खांसने से निकलने वाले Nanoscale Aerosol पार्टिकल फ़िल्टर कर सकते हैं. 

Note- Images are only for representative purposes.