हमारे दिल का कोई कोना नहीं बचा, जिसे अब तक फ़र्राटा धावक हिमा दास ने नहीं जीत लिया होगा.

Source: Scroll.in

हिमा दास वर्तमान में चेक गणराज्य में Kladno Athletics Meet में हिस्सा लेने पहुंची हैं. मंगलवार की सुबह उन्होंने मुख्यमंत्री राहत कोष में अपनी ओर से अपने राज्य में बाढ़ के लिए अपनी आधी सैलरी दान कर दी.

Source: NDTV

इसके अलावा उन्होंने ट्वीट कर के बड़ी कंपनियों और व्यक्तियों से भी आगे आकर असम की मदद करने की अपील की है.

हिमा दास पिछले दो सप्ताह से सुर्खियों में हैं, 11 दिनों के भीतर उन्होंने 3 अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक जीते हैं.

साल की पहली 200m रेस में 19 वर्षिय धावक ने 23.65 सेकेंड का समय निकाल Ponznan Athletics Grand Prix में दो जुलाई को गोल्ड मेडल जीता. अगला मेडल भी 200m रेस में Kutno Athletics Meet में 7 जुलाई को मिला और रविवार को दो सप्ताह के भीतर उन्हें तीसरा गोल्ड जीता.

बरसात और ब्रह्मपुत्रा नदी के ख़तरे के निशान से ऊपर बहने के कारण असम के 30 ज़िलों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है. इससे 43 लाख लोग प्रभावित हुए है. अस्सी हज़ार हेक्टेयर में फ़ैली फ़सल बर्बाद हो चुकी है. 17,000 लोगों को राहत शिविर में रखा गया है.

Source: Hindustan Times

बता दें कि हिमा दास गुवाहाटी में Indian Oil Corporation में HR Officer के पद पर कार्यरत हैं. उन्होंने अपनी आधी सैलरी बाढ़ राहत कार्य के लिए दान कर दी है. उम्मीद है इससे और भी लोग प्रेरित हो कर असम की ओर हाथ बढ़ाएंगे.