Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन की बीच जंग दिन-ब-दिन भयंकर रूप ले रही है. रूसी सैनिक यूक्रेन की सीमाओं में दाख़िल हो चुके हैं. आसामानों में फ़ाइटर जेट यहां-वहां बमबारी करते नज़र आ रहे हैं. दोनों ही तरफ़ से एक-दूसरे को बड़े नुक़सान पहुंचाने के दावे भी किए जा रहे हैं. इस बीच 'घोस्ट ऑफ कीव' (Ghost of Kyiv) की चर्चा हर तरफ़ हो रही है. 

Ghost of Kyiv
Source: greekreporter

ये भी पढ़ें: Russia Ukraine War: जंग के बीच छात्रों के लिए ट्रेन में लंगर चला रहा है ये भारतीय शख़्स

बता दें, ये असल में कोई भूत नहीं, यूक्रेन का एक फ़ायटर पायलट है. जिसे लेकर दावा किया जा रहा है कि इसने रूस के 6 फ़ायटर जेट मार गिराए हैं. दिलचस्प बात ये है कि न तो कोई इस पायलट का नाम जानता है और न ही उसकी शक्ल ही किसी ने देखी है. मगर इस वक़्त वो यूक्रेन और सोशल मीडिया में हीरो की तरह देखा जा रहा है.

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ. इसमें दिखाया गया कि एक फ़ायटर एयरक्राफ़्ट दूसरे को आसामान में ही मार गिराता है. ट्विटर यूज़र ने लिखा कि यूक्रेनियन पायलट ने रूस के 6 फ़ायटर प्लेन्स  को अपने मिग-29 से मार गिराया. साथ ही उसे Ghost of Kyiv निक नेम दिया. 

इस वीडियो के बाद हर तरफ़ इस पायलट की बहादुरी के चर्चे शुरू हो गए. सोशल मीडिया पर ये वीडियो हर ओर वायरल हो गया. यहां तक कि यूक्रेन के पूर्व राष्ट्रपति Petro Poroshenko ने एक फ़ायटल पायलट की तस्वीर जारी कर उसे ही 'घोस्ट ऑफ कीव' बताया. हालांकि, तस्वीर में पायलट की शक्ल नहीं दिख रही, क्योंकि उसने सेफ़्टी गियर पहन रखे हैं. उसका नाम भी सामने नहीं आया. 

मगर क्या ये वाक़ई सच है? रिपोर्ट के मुताबिक, एक फ़ैक्ट चेकिंग वेबसाइट ने इस वायरल वीडियो की जांच की है. उसके मुताबिक, 'घोस्ट ऑफ कीव' शायद सच हो सकता है, मगर वायरल वीडियो नहीं. बताया गया कि ये वीडियो किसी जंग का नहीं, बल्कि साल 2008 में रिलीज़ हुए Digital Combat Simulator गेम का है. 

इस वीडियो को ओरिजनली  Comrade_Corb नाम के चैनल से Youtube पर अपलोड किया गया था. डिस्क्रिप्शन में उसने बताया भी था कि ये वीडियो DCS का है. इसे इसे द घोस्ट ऑफ कीव के सम्मान में बनाया गया है.

ऐसे में Ghost of Kyiv की सच्चाई पर कुछ नहीं कहा जा सकता है. हो सकता है ऐसा बहादुर पायलट वाक़ई हो. या फिर हो सकता है कि बस यूक्रेनी नागरिकों का हौसला बढ़ाने के लिए कोई स्टोरी क्रिएट की गई हो. मगर सवाल अगर वायरल वीडियो का है, तो वो सच नहीं है.