प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के बढ़ते ख़तरे को देखते हुए 24 मार्च को देशभर में लॉकडाउन की घोषणा की थी. इस दौरान लोग घरों से बाहर न निकलें इसके लिए तमाम राज्यों में कंट्रोल रूम बनाए गये हैं, ताकि लोगों को ज़रूरत का सामान घर बैठे मिल सके.

Source: livemint

यूपी समेत कई राज्यों में ये काम काफ़ी अच्छे तरीके से चल रहा है. प्रशासनिक अधिकारी दिन रात एक कर इन कंट्रोल रूम के ज़रिए लोगों को सुविधा देने में लगे हुए हैं. इस दौरान कुछ शरारती तत्व ऐसे भी हैं जो मुसीबत की इस घड़ी सरकार की इस व्यवस्था का दुरुपयोग करने से भी बाज नहीं आ रहे हैं.

Source: livemint

प्रशासन ने जो फ़ोन नंबर कंट्रोल रूम बनाकर इमरजेंसी के लिए अलॉट किए हैं कुछ शरारती तत्व उन पर कॉल करके तरह-तरह के भद्दे मजाक कर रहे हैं. कंट्रोल रूम में कॉल करके कोई गर्मागर्म समोसा मांग रहा है तो कोई पान खाने की फ़रमाइश कर रहा है.

चाचा-भतीजे ने कंट्रोल रूम में फ़ोन कर मंगाया पान, डीएम ने पकड़कर साफ़ कराया नाला

बीते सोमवार रात यूपी के रामपुर ज़िले में चाचा-भतीजे ने कंट्रोल रूम में फोन कर पान की फ़रमाइश की, लेकिन कुछ समय बाद उनकी ये फ़रमाइश उन्हीं पर भारी पड़ गई. कंट्रोल रूम के कर्मचारियों ने इनकी शिक़ायत ज़िलाधिकारी को कर दी. बस फिर क्या था पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया. इसके बाद ज़िलाधिकारी के निर्देश पर नगर पालिका ने इन दोनों को पकड़ कर नाले की साफ़-सफ़ाई करावाई गई. हालांकि, बाद में पुलिस ने माफ़ीनामा लिखवाकर दोनों को छोड़ दिया.

Source: amarujala

कंट्रोल रूम में फ़ोन कर कुछ युवकों ने 4 समोसे भेजने की जिद की, फिर कराई नाली साफ़

मालूम हो कि इससे पहले भी रामपुर में ही इसी तरह की एक अन्य घटना सामने आई थी. इस दौरान कुछ शरारती युवकों ने कंट्रोल रूम में फ़ोन कर 4 समोसे भेजने की जिद कर दी थी. जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर इन सभी से सजा के तौर पर नाली साफ़ कराई. रामपुर के डीएम आंजनेय कुमार ने ट्वीट कर ख़ुद इस घटना की जानकारी दी थी.

Source: amarujala

महिला अलग-अलग नंबरों से बार-बार मंगवा रही थी राशन
उत्तर प्रदेश के ही किसी गांव की एक महिला ने कंट्रोलरूम में फ़ोन कर कहा कि पिछले कुछ दिनों से उसका परिवार भूखा है. घर में खाने के लिए कुछ भी नहीं है. इसके बाद पुलिस तुरंत हरकत में आई और महिला के घर आटा, चावल, तेल और चीनी लेकर पहुंच गई. लेकिन पुलिस वहां के हालत देखकर दंग रह गयी. दरअसल, इस महिला ने कंट्रोल रूम में बार-बार फ़ोन कर अपने घर में ढेर सारा राशन भर रखा था. जब पुलिस ने पूछा कि इतने राशन का क्या करोगे तो कहने लगी कि बेच देंगी.

Source: tribuneindia

रामपुर के ज़िलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह का कहना था कि, कुछ लोग जानबूझकर ऐसा कर रहे हैं. हमारे सभी कंट्रोल रूम एक-दूसरे से लिंक्ड हैं. कुछ लोग अलग अलग फ़ोन नंबरों से कॉल कर कंट्रोल रूम से सहायता मांग रहे हैं, लेकिन ऐसा करने पर भी हमें पता चल जाता है.

Source: amarujala

आन्जनेय कुमार सिंह ने साथ ही कहा कि, जब से लॉकडाउन डिक्लेयर हुआ है, हमने ज़िले में कई कंट्रोल रूम बनाए हैं. इन कंट्रोल रूम में कुछ अधिकारियों और शिक्षकों के ज़रिए इन्हें ऑपरेट किया जा रहा है. ये कंट्रोल रूम ज़रूरतमंद लोगों की सहायता के लिए बनाए गए हैं.

Source: amarujala

इन कंट्रोल रूम्स में अनावश्यक कॉल करने वाले शरारती तत्वों को पकड़कर सैनिटाइजेशन के कार्यों और हॉस्पिटल की सफ़ाई के काम में लगाया जा रहा है. पिछले 4 दिनों में अब तक लगभग 30 लोगों को इस तरह के कार्यों में लगाया गया है.