अगर आपके किसी घरवाले का इरादा किसी का अहित करना होस तो ऐसे में आप क्या करेंगे? ज़ाहिर है, उसे रोकेंगे. और अगर ये इरादे किसी का ख़ून करने के हों, तो उस शख़्स के दिमाग़ का इलाज करवाएंगे या फिर कम से कम उस पर कड़ी नज़र तो ज़रूर रखेंगे, पर मुंबई के एक परिवार ने इसका उल्टा किया.


Hindustan Times की एक रिपोर्ट के अनुसार, मुंबई के एक 'बड़े परिवार' ने मिलकर परिवार के ही एक सदस्य की हत्या कर दी.

33 वर्षीय पार्वती ने अपने पति, 45 वर्षीय सुशील मिश्रा की तीसरी पत्नी की हत्या कर दी, पार्वती सुशील की दूसरी पत्नी है. पार्वती ने हत्या में पति की पहली शादी से हुई दो बेटियों और एक बेटी के बॉयफ़्रेंड की सहायता ली.

Source: Tenor

पेशे से मज़दूर सुशील मुंबई के नालासोपारा में रहता था और 2017 में उसने पार्वती से शादी की थी. ये परिवार पति की पहली शादी से हुई दो बेटियों के साथ डॉन लेन में रहता था. साल भर पहले जब पति ने तीसरी शादी करने की सोची, तो चीज़ें बदल गईं. सुशील ने योगिता (मृतक) के साथ विवाह करने और लिंक रोड के अपार्टमेंट में रहने का निर्णय लिया.


सुशील काम से शहर के बाहर था. मौका पाकर, 28 फरवरी को पार्वती, सुशील की दो बेटियों और एक बेटी के बॉयफ़्रेंड के साथ योगिता के घर पहुंचे और योगिता को मार कर, लाश को ठिकाने लगाने की प्लैनिंग कर ली.

Source: Google+

योगिता को मार कर, लाश को कंबल में लपेटकर इन चारों ने ठिकाने लगा दिया. 1 मार्च को स्थानीय लोगों द्वारा लाश बरामद की गई. सीसीटीवी फ़ुटेज की बदौलत इन चारों का पता लगा लिया गया.


रिपोर्ट्स के अनुसार सालभर से सुशील, पार्वती को पैसे और प्यार दोनों कम दे रहा था, जिस वजह से पार्वती का ख़र्चा निकालना मुश्किल हो रहा था.

जो भी कहो, ख़ून की इस घटना पर फ़िल्म तो बिल्कुल बन सकती है.