'लोकसभा इलेक्शन 2019' शुरू होने में बस कुछ ही दिन बाकी हैं. नॉमिनेशन की प्रक्रिया भी आख़िरी चरणों में है. सिर्फ़ जनता ही नहीं उम्मीदवार भी पूरी तरह से कमर कस चुके हैं.

Source: livemint.co

कुछ उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जो इस इलेक्शन को हल्के में लेना नहीं चाहते. बाक़ायदा पूरी तैयारी के साथ नॉमिनेशन भरने जा रहे हैं.

Source: navbharattimes

यूपी के शाहजहांपुर में भी एक ऐसे ही उम्मीदवार हैं जिनको नॉमिनेशन भरने के लिए बारात निकालनी पड़ी. ये जनाब बाजे गाजे के साथ दूल्हे के रूप में घोड़े पर सवार होकर नामांकन दाख़िल करने पहुंचे. एक बार तो शहर के लोगों को लगा कि शायद किसी की बारात निकल रही है.

Source: navbharattimes

'संयुक्त विकास पार्टी' के उम्मीदवार वैद राज किशन को बीते सोमवार 'लोकसभा चुनाव 2019' के लिए अपना नामांकन दाख़िल करने के लिए बाक़ायदा दूल्हे के रूप में तैयार होकर निकलना पड़ा.

जब इस चुनावी दूल्हे से इस तरह नामांकन दाख़िल कराने जाने का कारण पूछा गया तो उन्होंने कहा कि 'मैं राजनीति का दामाद बनकर जा रहा हूं. दुल्हन तो 28 मई के बाद ही आएगी.

इलाके के लोग वैद राज किशन को धरतीपकड़ भी कहते हैं

अब तक तीन बार लोकसभा चुनाव लड़ चुके वैद राज किशन इससे पहले एक बार भैंसे पर बैठकर यमराज की वेशभूषा में नामांकन दाखिल करने पहुंचे थे. जबकि एक बार तो वो अर्थी पर लेटकर मुर्दे के रूप में शवयात्रा के साथ पर्चा दाखिल करने पहुंच गए थे. वैद राज किशन इलाके के लोग धरतीपकड़ भी कहते हैं.