‘भूत को मानते हो?’ 


कुछ लोग कहेंगे हां, कुछ लोग कहेंगे न. पर पिशाच, डायन, भूत होने का इल्ज़ाम लगाकर हर साल कई मासूमों को मार दिया जाता है. 

लोगों में जागरुकता फैलाने के लिए गंजम के ज़िलाधिकारी ने एक अजीब सा तरीका निकाला है. Mirror Now की रिपोर्ट के मुताबिक़, ज़िलाधिकारी ने 50 हज़ार का इनाम घोषित किया है और कहा है कि जो भी उन्हें भूत दिखा देगा उसे ये इनाम दिया जाएगा. 

News18

कलेक्टर विजय अम्रुता कुलांगे ने बीते बुधवार को कहा कि उनके ज्ञान के हिसाब से भूत नहीं होते. 


तंत्र विद्या से किसी को नुकसान नहीं पहुंचता पर कुछ लोगों का मानना है कि मंत्र फूंक देने, जादू-टोना करने से किसी का बुरा हो जाता है. कई बार लोग मरीज़ को डॉक्टर के पास ले जाने के बजाए झाड़-फूंक करवाने ले जाते हैं. 

मैं लोगों से ये कहूंगा कि एक-दूसरे पर इल्ज़ाम लगाने के बजाए वो मरीज़ों को डॉक्टर के पास ले जाएं 

-कलेक्टर विजय

ज़िले में हुए 2 भूत-प्रेत से जुड़ी घटनाओं के बाद कलेक्टर ने ये घोषणा की.


गोपापुर गांव के लोगों ने जादू-टोने का इल्ज़ाम लगाते हुए 6 लोगों को इंसान का मल खिलाया था. दूसरी घटना जगन्नाथ प्रदा से पता चली थी.  

इस घटना के सिलसिले में पुलिस ने 35 लोगों को गोपापुर से और 10 लोगों को जगन्नाथ प्रदा से गिरफ़्तार किया है.


ज़िलाधिकारी ने सेल्फ़ हेल्प ग्रुप्स बनाने पर ज़ोर देते हुए कहा कि गांववालों में जागरुकता लाने की ज़रूरत है.