Single Use Plastic Ban in India: भारत में 1 जुलाई से सिंगल यूज़ प्लास्टिक (Single Use Plastic) का इस्तेमाल पूरी तरह से प्रतिबंधित होने जा रहा है. देशभर में बढ़ते प्लास्टिक प्रदूषण के चलते केंद्र सरकार ने अब इसमें किसी भी तरह की छूट देने से साफ़ इंकार कर दिया है. सरकार के इस फ़ैसले से पैक्ड जूस, सॉफ़्ट ड्रिंक्स और डेयरी प्रोडक्ट बनाने व बेचने वाली कंपनियों को तगड़ा झटका लगा है. अमूल, मदर डेयरी और डाबर जैसी कंपनियों ने सरकार से अपने इस फ़ैसले को कुछ समय के लिए टालने का निवेदन किया था. लेकिन अब केंद्र सरकार ने इससे साफ़ इंकार कर दिया है.

ये भी पढ़ें: सिंगल यूज़ प्लास्टिक को 3 साल पहले ही बैन कर चुका ये गांव है इंडिया का एक फ़ेमस टूरिस्ट स्पॉट 

Single Use Plastic Ban in India
Source: jagranjosh

बता दें कि भारत सरकार ने कूड़ा-करकट वाले सिंगल यूज़ प्लास्टिक (Single Use Plastic) से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए ही ये ठोस कदम उठाए हैं.

1 जुलाई से बैन होंगे ये प्रोडक्ट्स

1 जुलाई से इस प्रतिबंध के लागू होने के बाद सभी बेवरेज कंपनियां प्लास्टिक स्ट्रॉ (Plastic Straw) के साथ अपने प्रोडक्ट को बेच नहीं पाएंगी. इसके अलावा कप, प्लेट, गिलास, कांटे, चम्मच, कैंडी स्टिक, ईयर-बड्स, प्लास्टिक के झंडे, आइसक्रीम स्टिक, सजावट के लिए पॉलीस्टाइनिन (थर्मोकोल) और गुब्बारों की प्लास्टिक स्टिक जैसी वस्तुओं के इस्तेमाल पर पूरी तरह से प्रतिबंध लग जाएगा.

Single Use Plastic Ban in India

Single Use Plastic Ban in India
Source: eastcoastdaily

भारत में 5 रुपये से लेकर 30 रुपये के बीच की क़ीमत वाले दूध और जूस वाले प्रोडक्ट्स का बड़ा कारोबार है. कोका-कोला, पेप्सिको, अमूल और मदर डेयरी समेत तमाम बड़ी कंपनियों के पेय पदार्थ प्लास्टिक स्ट्रॉ (Plastic Straw) के साथ ग्राहकों तक पहुंचते हैं. इस वजह से 'सिंगल यूज प्लास्टिक' पर लगने वाले बैन से बेवरेज कंपनियां परेशान हैं. सरकार ने सभी कंपनियों को 'प्लास्टिक स्ट्रॉ' का विकल्प खोजने का निर्देश दिया है.

Single Use Plastic Ban in India

Plastic Straws
Source: usatoday

ये भी पढ़ें: ये हैं प्लास्टिक मैन ऑफ़ इंडिया, प्लास्टिक के कचरे से सड़क बनाने की खोज निकाली है तकनीक़

देश के सबसे बड़े डेयरी समूह 'अमूल' ने कुछ दिन पहले सरकार को पत्र लिखकर प्लास्टिक स्ट्रॉ पर लगने वाले प्रतिबंध को टालने का अनुरोध किया था. इस दौरान अमूल मैनेजमेंट ने कहा था कि, सरकार के इस फ़ैसले से दुनिया के सबसे बड़े दूध उत्पादक देश के किसानों और दूध की खपत पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा. इससे पहले 'मदर डेयरी फ्रूट एंड वेजिटेबल प्राइवेट लिमिटेड' के प्रबंध निदेशक मनीष बंदलिश ने कहा था कि, हम पेपर स्ट्रॉ का आयात करेंगे. लेकिन ये मौजूदा 'प्लास्टिक स्ट्रॉ' की तुलना में 4 गुना अधिक महंगे हैं. 

Single Use Plastic Ban in India

Single Use Plastic Ban in India
Source: zeenews

क्या है 'सिंगल यूज़ प्लास्टिक'?

सिंगल यूज़ प्लास्टिक (Single Use Plastic) को एक बार इस्तेमाल करने के बाद फेंक दिया जाता है. इस तरह के प्लास्टिक को रिसाइकिल भी नहीं किया जा सकता है. आमतौर पर 'सिंगल यूज प्लास्टिक' को जला दिया जाता है या फिर ज़मीन के नीचे दबा दिया जाता. इस वजह से ये पर्यावरण को लंबे वक्त तक नुकसान पहुंचाता है.