दुनियाभर में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच यूरोप के इस देश से अच्छी ख़बर आई है. स्लोवेनिया कोरोना वायरस महामारी से ख़ुद को आज़ाद करने वाला पहला यूरोपीय देश बन गया है.

Source: cnbc

स्लोवेनिया की सरकार ने गुरुवार देर रात ऐलान किया कि कोरोना वायरस अब नियंत्रण में है और उन्हें विशिष्ट स्वास्थ्य उपायों की ज़रूरत नहीं है. ऐसा करने वाला स्लोवेनिया यूरोप का पहला देश है. पिछले दो हफ़्ते से यहां हर दिन कोरोना के 7 से कम नए केस देखने को मिल रहे हैं. 

Source: thehindu

स्लोवेनिया की सरकार ने ऐलान किया है कि यूरोपीय संघ सदस्य देशों ऑस्ट्रिया, इटली और हंगरी के नागरिक अब स्लोवेनिया आने के लिए स्वतंत्र हैं. अब उन्हें 7 दिनों के लिए क्वॉरंटीन के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा. लेकिन गैर-सदस्य नागरिकों को यहां आने पर 14 दिनों तक क्वॉरंटीन में रहना होगा. स्लोवेनिया की सीमाएं इटली, ऑस्ट्रिया, हंगरी और क्रोएशिया से लगी हुई हैं. 

Source: navbharattimes

यूरोपीय संघ के सदस्य देश स्लोवेनिया की सरकार ने साथ ही कहा कि विदेशी नागरिक, जिनमें कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण दिखेंगे, उन्हें अभी देश में एंट्री की अनुमति नहीं दी जाएगी. 

Source: abplive

स्लोवेनिया की सरकार ने कोरोना को दोबारा बढ़ने से रोकने के लिए अपने नागरिकों को सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं. यहां नागरिकों को अभी भी बुनियादी नियमों का पालन करना होगा. सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य है, जबकि सोशल डिस्टेंसिंग के लिए 5 फ़ीट की दूरी बनाए रखनी होगी. सार्वजनिक स्थानों में एंट्री करने पर हाथों को साफ़ करना ज़रूरी है. 

Source: euractiv

जानकारी दे दें कि क़रीब 20 लाख की आबादी वाले स्लोवेनिया में कोरोना का पहला मामला 4 मार्च को सामने आया था. स्लोवेनिया में अब तक 1464 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं जबकि 103 लोगों की मौत भी हो चुकी हैं. 12 मार्च को यहां कोरोना को महामारी घोषित किया गया था.