कोविड-19 का असर पूरी दुनिया में है. भारत भी अपवाद नहीं है. अभी भी हर रोज़ हज़ारों संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में अब देश में त्यौहार भी इस महामारी के मार झेलने को मजबूर हैं. हालांकि, लोग भी इससे निपटने के लिए नए-नए तरीक़े अपना रहे हैं.

Source: indianexpress

ताज़ा उदाहरण संस्कृति कला संगम द्वारा खेली जाने वाली रामलीला का है. हर साल ये रामलीला दर्शकों के सामने स्टेज पर होती थी, लेकिन कोरोना के चलते इस बार रामलीला का YouTube चैनल पर प्रीमियर होगा. इसके लिए यमुना किनारे शूटिंग भी चल रही है. दो दिनों में आठ पार्ट्स शूट किए जाएंगे.

रामलीला में राम की भूमिका निभाने वाले और डायरेक्टर यश चौहान ने बताया कि, ‘हम सालों से स्टेज शो कर रहे हैं लेकिन ये पहली बार है जब हम इसे कैमरे पर शूट कर रहे हैं. शो को इस तरह से निर्देशित किया गया है कि शारीरिक संपर्क कम से कम रहे और डांस को भी इसे ध्यान में रखते हुए कोरियोग्राफ़ किया गया है.’

Source: indianexpress

मेक-अप कलाकार अर्चना राजपूत (24) ने कहा कि कुछ यूट्यूब चैनलों पर अपलोड किए जाने के अलावा इस शो को कनाडा में दिवाली रज्जमाताज़ फ़ेस्टिवल में भी नौ दिनों तक दिखाया जाएगा. 

इस बार ग्रीन रूम और मेक-अप रूम नही हैं. साथ ही लाइव सिंगिंग भी नहीं होगी. वैनिटी के नाम पर एक वैगनआर खड़ी है. एक कथक डांसर और रामलीला में सीता का रोल निभा रहीं 20 वर्षीय हर्षिता ने कहा, ‘एक कार में तैयार होना आसान नहीं है. प्रशिक्षित नर्तकियों के रूप में, हमने कभी भी एक मंच और एक दर्शक के बिना प्रदर्शन नहीं किया है ... पहले मेरे दादा सीता का रोल निभाते थे, मेरे पिता भी रामलीला में डांसर थे और अब मैं हूं. हम आज जो कुछ भी हैं, वो अपने दर्शकों के चलते हैं... हम उन्हें मिस करेंगे.’

Source: indianexpress

इस बीच, अर्चना बताती हैं कि मेक-अप के सामान एक-दूसरे के बीच शेयर नहीं किए जाएंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘लॉकडाउन से पहले ही हमने चेन्नई और केरल में स्लॉट बुक कर लिए थे, जिसे रद्द करना पड़ा.’

बता दें, इस साल रिहर्सल भी ऑनलाइन हुआ. डांसर्स ने अपने प्रैक्टिस वीडियो ऑनलाइन पोस्ट किये, जबकि अभिनेताओं ने प्रतिक्रिया के लिए दृश्य अपलोड किए. वे ये सुनिश्चित कर रहे हैं कि राम और सीता के साथ वाले या भरत मिलाप जैसे दृश्य भी एहतियात के साथ शूट किये जाएं.