कोविड- 19 पैंडमिक की वजह से देश और दुनिया में कई लोगों की नौकरियां चली गईं.

नौकरी जाने के बाद कई पढ़े-लिखे लोग सब्ज़ी-फल बेचने और ऐसे ही काम करने पर मजबूर हुए.

Source: Times of India

Times Now News की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, हैदराबाद के MNC में काम करने वाली 26 वर्षीय Unadadi Sharda भी उन लाखों लोगों में से एक हैं जिन्होंने अपनी नौकरी गंवाई.

वारंगल की शारदा ने भी मुश्किल वक़्त में सब्ज़ियां बेचने का काम शुरू किया. घर की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए शारदा ने ये इंजीनियर होने के बावजूद सब्ज़ियां बेचने का निर्णय लिया.

Times of India की एक रिपोर्ट के अनुसार, शारदा का कहना था कि इस काम से वो किराया चुका पा रही हैं और एक इज़्ज़त की ज़िन्दगी जी रही हैं.

एक ट्विटर यूज़र ने सोनू सूद को ट्वीट करके शारदा की कहानी बताई

कोविड- 19 में मज़दूरों से लेकर लगभग हर मदद मांगने वाले की मदद करने सोनू सूद ने जवाब में ये ट्वीट किया-

कुछ दिनों पहले ही सोनू ने मज़दूरों को रोज़गार देने के लिए एक ऐप लॉन्च किया था. सोनू सूद ने कुछ दिनों पहले हल चला रही दो बहनों को ट्रैक्टर दिलवाया था. महाराष्ट्र पुलिस को भी उन्होंने मास्क और फ़ेस शील्ड दान किये थे.

ट्विटर ने सोनू को सलाम कहा-