Sonu Sood Will Help Bihar One Leg Girl : बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद के लिए दिल से यही लाइन निकलती है कि, 'एक ही दिल है, कितनी बार जीतोगे.' कोरोना महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक सोनू सूद निरंतर अपने समाज सेवा के कार्यों से लोगों का दिल जीतते आ रहे हैं. ग़रीबों के लिए वो तो मसीहा बन गए हैं. उनके सामने अगर कोई मदद की गुहार लगाए, वो पीछे नहीं हटते. यही वजह है कि लोगों का उनके प्रति प्यार और भरोसा बढ़ने पर है.


इस बार भी सोनू सूद ने एक ऐसा ही दिल जीतने वाला काम करके दिखाया, जिसके बारे में आप जानेंगे, तो भावुक होने के साथ-साथ दिल से एक्टर सोनू सूद को दुआ देंगे. आइये, जानते हैं क्या है पूरी बात.   

sonu sood
Source: bollywoodfilmfame

आइये, अब विस्तार से पढ़ते (Sonu Sood Will Help Bihar one Leg Girl) हैं आर्टिकल. 

बिहार की सीमा को सोनू की मदद  

Sonu Sood Will Help Bihar One Leg Girl : अभिनेता सोनू सूद ने बिहार की एक बच्ची की मदद (Sonu Sood Will Help Bihar one Leg Girl) करने के लिए आगे आए हैं, जो एक पैर से क़रीब 1 किमी का सफ़र तय कर स्कूल जाती है. सोनू सूद ने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म ट्विटर पर ये बात साझा की कि वो उसकी मदद करेंगे. उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, “अब ये अपने एक नहीं, दोनो पैरों पर कूद कर स्कूल जाएगी. टिकट भेज रहा हूं, चलिए दोनो पैरों पर चलने का समय आ गया.”  

हादसे में एक पैर खो दिया था   

seema bihar girl
Source: newsbuzz

Sonu Sood Will Help Bihar one Leg Girl : हम जिस बच्ची की बात कर रहे हैं वो बिहार के जमुई ज़िले के फतेहपुर नाम के गांव की रहने वाली है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आज से क़रीब दो साल पहले 10 वर्षीय सीमा ने एक दुर्घटना में अपना एक पैर खो दिया था. सीमा (One Leg bihar Girl) को एक ट्रैक्टर से टक्टर लग गई थी. 

वहीं, इलाज के दौरान सीमा का एक पैर काटना पड़ा और इसके बाद से सीमा को एक पैर से चलने पर मजबूर होना पड़ा. चौथी क्लास में पढ़ने वाली सीमा स्कूल भी अपने एक पैर से ही जाती है.

हिम्मत नहीं हारी  

seema bihar one leg girl
Source: breakingblog

One Leg Bihari Girl in Hindi : इतनी बड़ी दुर्घटना होने के बावजूद बिहार की इस बेटी ने हिम्मत नहीं हारी. सीमा ने एक पैर पर ही अपने भविष्य की ओर कदम बढ़ा दिया. सीमा की ये हिम्मत उन लोगों के लिए प्रेरणा है, जो बहुत ही जल्द अपना हौसला खो बैठते हैं.  

जमुई DM की तरफ़ से दी गई ट्राइसाइकिल

बिहार की बेटी सीमा की पढ़ाई के प्रति लगन और जज़्बे को देख जमुई डीएम ए.के. सिंह ने उन्हें एक ट्राईसाइकिल दी है, ताकि वो आराम से स्कूल जा सकें. साथ ही ये भी कहा है कि, "हम सीमा को कृत्रिम पैर (Artificial Limb) भी लगवाएंगे."  

60 प्रतिशत बच्चे पैदल स्कूल जाते हैं  

rural student India
Source: indiatimes

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट में दिए गए एक सर्वे के अनुसार, भारत में क़रीब 60 प्रतिशत बच्चे पैदल स्कूल जाते हैं. इसमें ज़्यादा प्रतिशत ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले बच्चों का है. वहीं, पैदल स्कूल जाने में लड़कों की तुलना में लड़कियों का प्रतिशत (62%) ज़्यादा है.