आपने अकसर लोगों को ये कहते हुए सुना होगा कि उन्हें बाथरूम में नए-नए आइडिया आते हैं और सुकून भी मिलता है. अगर आपको भी लगता है कि ज़िन्दगी का सबसे ज़्यादा सुकून वाशरूम में मिलता है तो आप सही हैं. ये बात अब साबित भी हो चुकी है. अब इस बात पर एक सर्वे ने मुहर भी लगा दी है. ये दावा हम इंग्लैंड में हुए एक सर्वे को लेकर कर रहे हैं, जो हाल ही में बाथरूम पर किया गया है.

इस सर्वे के मुताबिक, एक आम इंसान अपने पूरे जीवन में 416 दिन बाथरूम में बिताता है. इससे पहले आपने कभी इस बारे में कभी सोचा नहीं होगा लेकिन ये सच है कि एक Adult अपनी ज़िन्दगी का एक साल से ज़्यादा का समय केवल टॉयलेट में बिता देता है

Source: aksharsamrat.com

ये सर्वे U.K. home-goods outlet B&Q ने करवाया है, जिसमें तकरीबन 2000 लोग शामिल हुए थे. इस सर्वे का मकसद लोगों को एक बेस्ट बाथरूम तैयार कर के देना है. इसके अनुसार, पुरूष 373 दिन मतलब दिन में 23 मिनट और महिलाएं 456 दिन यानी 29 मिनट बाथरूम में स्पेंड करते हैं.

बाथरूम शेयर करने से कतराते हैं लोग

Source: dailyhunt

हैरान करने वाली बात ये है कि लोग अपना बाथरूम किसी से शेयर भी नहीं करना चाहते. इसके अनुसार, 10 में से 7 लोग अपना बाथरूम दूसरे लोगों से शेयर करने पर निराश हो जाते हैं. सर्वे में शामिल 17 प्रतिशत लोगों का कहना है कि वो अपना बाथरूम मैं किसी और को देखना बर्दाश्त नहीं कर पाते हैं.

टॉयलेट पेपर ख़त्म हो जाने पर आता है गुस्सा

Source: youngisthan

अब सवाल ये उठता है कि बाथरूम में लोग किस चीज़ से सबसे ज़्यादा घृणा करते हैं? एक तिहाई लोगों ने कहा कि टॉयलेट पेपर ख़त्म होने पर उन्हें बहुत गुस्सा आता है. जबकि 200 लोगों का कहना है कि उन्हें बाथरूम की नाली में बाल देखने से नफ़रत है. वहीं 29 फ़ीसदी महिलाओं का कहना है कि उनके बॉयफ़्रेंड या पति बाथरूम को गंदा करने के लिए ज़िम्मेदार हैं, ये उन्हें बहुत ही बुरा लगता है.

Source: ujjawalprabhat

इस सर्वे में चौंकाने वाली एक बात सामने आई वो ये कि बाथरूम को लोग एक इस्केप रूम की तरह इस्तेमाल करते हैं. जब उन्हें किसी से बचना हो, किसी को इग्नोर करना हो तो वो बाथरूम में जाकर छिप जाते हैं. 6 में से 1 का कहना है कि ऐसा कर के उन्हें बहुत ही शांति महसूस होती है.

बाथरूम में बिताए कुछ जीवन के बेस्ट लम्हें

Source: vice

बाथरूम पर हुए इस सर्वे की सबसे दिलचस्प बात ये है कि लोगों ने ये कुबूल किया है कि उन्होंने इस छोटे से रूम में अपने जीवन के कुछ बेहतरीन लम्हें बिताए हैं. 10 प्रतिशत लोगों ने कहा कि यहां उन्हें ख़ुद से बात करने का मौका मिला. जबकि 10 फ़ीसदी लोगों का कहना है कि उन्होंने यहां पर लोगों से बहस की. 8 प्रतिशत लोगों का कहना है कि वो यहां अपने पार्टनर के साथ इंटिमेट हुए, जबकि 1.4 फ़ीसदी ने कहा कि उन्होंने यहां बच्चों को भी जन्म दिया है.

Source: blogspot

इस सर्वे से ये पता चलता है कि लोग अपने बाथरूम से कितना प्यार करते हैं. साथ ही 51 फ़ीसदी लोगों का ये मानना है कि उन्हें अपने बाथरूम को रिनोवेट कर बहुत ख़ुशी मिली. इससे उनके घर में भी ख़ुशी का माहौल कायम हुआ.

हम तो चाहेंगे कि हमारे देश में भी ऐसा सर्वे हो, ताकी हमें भी पता चले कि हमारे देश के लोग अपने बाथरूम से कितना प्रेम करते हैं.