कोरोना लॉकडाउन के कई लोगों का काम काज ठप्प पड़ा है. काफी लोगों को अपना जीवन बिताने के लिए बैंक लोन का सहारा लेना पड़ रहा है. ऐसे में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया जहां बैंक में लोन लेने गए व्यक्ति को उल्टा बैंक ने 50 करोड़ रुपये का डिफ़ॉल्टर घोषित कर दिया. 

पूरा मामला हरियाणा के कुरुक्षेत्र का है जहां राजकुमार नाम के एक व्यक्ति जो चाय बेचकर अपना जीवन यापन करते हैं मगर कोरोना और पैसों की कमी के चलते जब उन्होंने बैंक में लोन के लिए अप्लाई किया तो बैंक वालों ने लोन तो रिजेक्ट किया ही किया साथ में बोला कि उनके पहले से ही 50 करोड़ रुपये बक़ाया हैं. 

Source: twitter

राजकुमार बताते हैं कि जब उन्होंने लोन के लिए आधार कार्ड और ज़रूरी कागज़ जमा कार्य तो बैंक ने उनसे कहा कि उनपर पहले से ही 50 करोड़ रुपये का क़र्ज़ है. उन्हें समझ ही नहीं आया रहा कि जब उन्होंने कभी बैंक से लोन लिया ही नहीं तो वे 50 करोड़ के डिफ़ॉल्टर कैसे बन गए. 

Source: twitter

ANI से बात करते हुआ राजकुमार ने अपना पक्ष रखा, उन्होंने बताया, "मैंने लोन के लिए अप्लाई किया था क्योंकि COVID के कारण मेरी हालत बहुत ख़राब है. बैंक ने मेरे लोन के आवेदन को ठुकराया साथ ही बताया कि मेरे पास पहले से ही 50 करोड़ रुपये का कर्ज है, पता नहीं यह कैसे संभव है." 

उम्मीद है बैंक सारा मामला देख-समझ कर राजकुमार की इस दिक्कत को जल्द से जल्द दूर कर देगा.