मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के पास बृहस्पतिवार को एक रेलवे ओवरब्रिज गिर गया. हादसे में अब तक 6 लोगों की मृत्यु की पुष्टि हो चुकी है और 30 से ज़्यादा घायल हो चुके हैं.


शाम के लगभग 7:30 बजे के आस-पास ब्रिज गिरा. इस वक़्त के आस-पास लोगों की आवाजाही बहुत ज़्यादा होती है.

NDTV की रिपोर्ट के अनुसार, रेलवे मंत्रालय ने कहा है कि ये ब्रिज मुंबई की सिविक बॉडी के अंडर आता है.


TOI की रिपोर्ट के अनुसार, ये ब्रिज 1988 में बना था.

फ़ुटओवरब्रिज के पास स्थित सिग्नल पर लाल बत्ती थी इसलिए कई लोग दुर्घटना का शिकार होने से बच गए. सिग्नल ग्रीन होने से पहले की ब्रिज ढह गया और कई जानें बच गई.

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने मृतकों के परिवार को 5-5 लाख और ज़ख्मी लोगों को 50-50 हज़ार मुआवज़ा देने की घोषणा की है.

मुंबई पुलिस ने बीएमसी और सीआर अफ़सरों के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कर ली है.


इस ब्रिज का रोज़ाना हज़ारों लोग इस्तेमाल करते हैं इसीलिये बीएमसी ने रेलवे यात्रियों की सुविधा के लिए रोड डिवाइडर को पंचर किया. हादसे के बाद लगभग 4 फ़ीट के रोड डिवाइडर को गिराया गया, ताकी लोगों को ज़्यादा दिक्कत न हो.

TOI की रिपोर्ट के अनुसार, 'हिमालय ब्रिज' को कई लोगों ने अपने कदमों तले हिलता महसूस किया है, ख़ासकर जब ब्रिज पर आवाजाही ज़्यादा हो जाए और जब नीचे स्थित प्लेटफ़ॉर्म से ट्रेन गुज़रती थी.



इस पूरी घटना से जुड़ी अन्य जानकारियां हम आप तक पहुंचाते रहेंगे.