टाटा मोटर्स देश के अग्रणी और सबसे बड़े वाहन निर्माताओं में से एक है. वो कई दशकों से भारतीय सेना के लिए अलग-अलग प्रकार के वाहन बनाती आ रही है. देश ही नहीं विदेशों में भी इस ब्रैंड की धमक है. टाटा मोटर्स से के कुछ ट्रक अब थाईलैंड की सेना का भी हिस्सा होंगे. इसकी जानकारी थाइलैंड के राजदूत Chutintorn Sam Gongsakdi ने ट्वीट कर दी है.

tata-motors-defence-trucks
Source: defencegallery

भारत में थाईलैंड के राजदूत Chutintorn Sam Gongsakdi ने ट्वीट कर बताया कि बहुत जल्द थाई आर्मी टाटा मोटर्स के 600 TATA LPTA मिल्ट्री ट्रक्स की ख़रीदने की प्रक्रिया पूरी कर लेगी. उन्होंने पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत अभियान का समर्थन किया है.

Chutintorn ने इन ट्रक्स की तारीफ़ करते हुए बताया कि ये हर तरह के क्षेत्र में चलने में सक्षम हैं और इन्हें मेंटेन करना भी आसान है. बहुत जल्द ही ये थाई आर्मी की सेवा में जुट जाएंगे. लेकिन ट्वीट में Chutintorn ने भारत की जगह नाइज़र का झंडा शेयर कर दिया.

हालांकि, बाद में जब उन्हें अपनी ग़लती का एहसास हुआ तो उन्होंने इसके लिए माफ़ी मांगी और इसे सुधारा भी. इस डील के बारे में लोगों का क्या कहना आप भी देखिए:

ग़ौरतलब है कि टाटा मोटर्स 1940 से ही भारतीय सेना के लिए अलग-अलग प्रकार के वाहन बनाती आ रही है. वो सेना के तीनों अंगों के साथ ही SAARC, ASEAN और कुछ अफ़्रीकी देशों को भी मिल्ट्री वाहन सप्लाई करती है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, टाटा मोटर्स भारतीय सेना के लिए उच्च श्रेणी के मिसाइल लॉन्चर सहित परिष्कृत युद्धक, सामरिक, तर्क पूर्ण और बख्तरबंद वाहनों की एक श्रृंखला भी तैयार कर रही है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.