बीते शनिवार को असम के नगांव में थकान के चलते एक गैंडा NH-37 पर ही सो गया था. इस दौरान सड़क से गुज़र रही गाड़ियों की वजह से वहां भारी ट्रैफ़िक लग गया था.

Source: indiatoday

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद 'काज़ीरंगा नेशनल पार्क' के अधिकारी हरक़त में आए और लोगों से सोते हुए गैंडे को डिस्टर्ब न करने की अपील की. 

बताया जा रहा है की भोजन की तलाश में ये गैंडा बागोरी रेंज के बंदर ढाबी इलाक़े में रास्ता भटक गया था. इस दौरान वो थकान के चलते NH37 पर ही सो गया. इसके बाद नगांव ज़िला पुलिस और 'काज़ीरंगा नेशनल पार्क' के अधिकारियों की मदद से इसे पार्क टेरिटरी में स्थानांतरित किया गया. 

Source: twitter

इस बीच 'काज़ीरंगा नेशनल पार्क' का कहना है कि, ये गैंडा अब पूरी तरह से ठीक है. वो फिर से अपनी खोई हुई ताकत वापस हासिल कर रहा है. हमारी टीम उसकी सेहत का ख्याल रख रही है.  

Source: twitter

बीते रविवार 'काज़ीरंगा नेशनल पार्क' ने इस गैंडे का एक वीडियो शेयर किया, जिसमें वो पूरी तरह से स्वस्थ्य नज़र आया और पार्क क्षेत्र में घास चरता हुआ दिखा.  

नगांव पुलिस ने भी ट्वीट कर कहा कि, टीम द्वारा 36 घंटे से अधिक समय तक लगातार प्रयास के बाद 'राइनो किंग' अपने किंगडम में वापस जा पाया.  

'भारतीय वन सेवा' के अधिकारी सुसंता नंदा ने भी ट्विटर करते हुए लिखा, गैंडा जो थका हुआ था और सड़क पर सो रहा था, वो अब पार्क टेरिटरी में चला गया है. वो अपनी ताकत फिर से हासिल कर रहा है. टीम काज़ीरंगा का शुक्रिया! 

सोशल मीडिया पर लोगों ने भी की जमकर तारीफ़-