पिछले कुछ महीनों से 'भारत सरकार' और 'ट्विटर इंडिया' के बीच घमासान जारी है. सरकार ट्विटर पर कई तरह के बैन लगाने के पक्ष में हैं, ऐसे में ट्विटर ने भी सरकार के इस तुगलकी फरमान को रिजेक्ट कर दिया है. 

दरअसल, केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने जबसे ट्वीट कर बताया कि उन्होंने Koo App जॉइन कर लिया है. तभी से इस 'मेड इन इंडिया' ऐप की चर्चा भी शुरू होने लगी है. पीयूष गोयल के बाद मोदी सरकार के कई अन्य मंत्री भी Koo से जुड़ चुके हैं. 

दरअसल, केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने जबसे ट्वीट कर बताया कि उन्होंने Koo App जॉइन किया है. तभी से इस 'मेड इन इंडिया' ऐप की चर्चा ज़ोरों पर है. पीयूष गोयल के बाद क़ानून मंत्री रविशंकर प्रसाद समेत कई अन्य मंत्री भी Koo से जुड़ चुके हैं.

पूर्व भारतीय क्रिकेटर जवागल श्रीनाथ, अनिल कुंबले, बॉलीवुड अभिनेता आशुतोष राणा, प्रख्यात ग़ज़ल गायक जसविंदर सिंह, फ़्रीस्टाइल पहलवान पवन कुमार, लेखक अमीश त्रिपाठी, प्रसिद्ध स्तंभकार सुहेल सेठ, आध्यात्मिक नेता सद्गुरु समेत देश की कई जानी मानी हस्तियां भी Koo से जुड़ चुकी हैं.

Source: indiatoday

न्यूज़ 18 से बातचीत में Koo App के सह-संस्थापक मयंक बिदावतका ने बताया कि, अब तक 3 मिलियन से अधिक लोग इस ऐप को डाउनलोड कर चुके हैं, Koo के पास अब 1 मिलियन से अधिक मासिक एक्टिव यूज़र्स हैं. इसमें मिनिस्टर, एक्टर्स, स्पोर्ट्स पर्सन समेत कई हस्तियां शामिल हैं.

Source: navbharattimes

बता दें कि Koo App की अपनी ख़ुद की वेबसाइट भी है, जिसपर इस ऐप से जुड़ी सारी जानकारी दी गई हैं. फिलहाल इस ऐप के डिवेलपर्स ने इसे iOS और Android प्लेटफ़ॉर्म पर लाइव कर दिया है और लोग अब इस देसी ट्विटर को अपने मोबाइल में इंस्टॉल भी करने लगे हैं.

Source: indianexpress

भारत सरकार ने दुनिया के सभी पॉप्युलर ऐप्स के देशी विकल्प की तरफ़ लोगों का ध्यान आकर्षित करना शुरू कर दिया है. भारत का देसी ट्विटर Koo 'डिजिटल इंडिया आत्मनिर्भर भारत इनोवेटिव चैलेंज' का विजेता भी रह चुका है. 


अब ये तो आने वाले समय ही बताएगा कि भारत में ये ऐप ट्विटर की तरह लोगों के दिलों में जगह बना पाएगा कि नहीं.