दीवाली धन की देवी माता लक्ष्मी के आगमन का पर्व है. त्यौहार तो हम ख़ूब धूम-धाम से मनाते हैं मगर धन को कैसे संभालना है, इसके बारे में पता करना भूल जाते हैं. तो आइये इस दिवाली पहले इसी काम को निपटा लिया जाए.  

Source: Pinterest

ये हैं वो कुछ ज़रूरी बातें जिनकी गांठ बांध लेने से माता लक्ष्मी की कृपा आप पर बरसेगी:

1. बजट बनाए और कमाई से कम ही ख़र्च करें.

सुनने में ये बात काफ़ी साधारण लगती है, मगर असल में ये सबसे ज़रूरी बात है. पहले तो आपको ये तय करना पड़ेगा कि आप अपनी कमाई से ज़्यादा ख़र्च नहीं करेंगे. बुरा कर्ज़ आपकी ज़िंदगी पर बोझ बन सकता है. तो सबसे पहले ये प्रण लें कि आपका ख़र्चा आपकी कमाई से कम रहेगा. 

कोशिश कीजिए कि आपका ख़र्च आपकी आमदनी के 50%-60% से ज़्यादा न हो. अपने ज़रूरी ख़र्चों और लग्ज़री ख़र्चों को लिख कर बजट बनाएं. जितना हो सके लग्ज़री ख़र्चों को कम रखें. 

2. इमरजेंसी फ़ंड बनाये. 

ज़िंदगी का क्या भरोसा, कब कौन सी ज़रूरत आन पड़े पैसों की. अचानक आये ख़र्चे से निपटने के लिए किसी के सामने हाथ न फैलाना पड़े इसके लिए इमरजेंसी फ़ंड बहुत ज़रूरी होता है. 

इमरजेंसी फ़ंड कई तरह के हो सकते हैं, बस सब में शर्त ये होती है कि आप जब चाहें तब पैसे निकाल सकें. मसलन किसी बैंक में सेविंग अकाउंट या ऐसे म्यूच्यूअल फ़ंड जिसमें कोई लॉक इन पीरियड न हो. तो पैसा बचाइए और इमरजेंसी फ़ंड में डालिये.

3. जितनी जल्दी इन्वेस्ट करेंगे उतना अच्छा.

ज़िंदगी भले लंबी लग रही हो मगर समय निकलते देर नहीं लगती. आप जितनी जल्दी निवेश करना शुरू करेंगे उतना अच्छा होगा. कंपाउंड इंटरेस्ट वक़्त लेता है रिटर्न्स देने में. इसलिए लंबी प्लानिंग करें. Long Term Investment को तरजीह दें.

4. प्रोफ़ेशनल्स की सहायता लें.

ज़रूरी नहीं कि टैक्स, इन्वेस्टिंग आदि को लेकर आपके पास जितनी जानकारी है उतना काफ़ी हो. बेहतर होगा कि आप थोड़े पैसे ख़र्च करें और प्रोफ़ेशनल्स की सहायता लें. इससे आपको पैसे इन्वेस्ट करने में और बाक़ी कामों में न सिर्फ़ आसानी होगी, बल्कि नुकसान की संभावना भी कम होगी. फ़्री के चक्कर में कतई न पड़े. 

5. क्रेडिट कार्ड लें तो ज़िम्मेदारी समझें.

क्रेडिट कार्ड जितना अच्छा है उतना बुरा भी है आपकी जेब के लिए. अगर ज़रूरत न हो तो इससे दूर ही रहें. अगर लेने जा रहें हो तो पहले इससे जुड़े जोख़िम को अच्छी तरह समझ लें. क्रेडिट कार्ड का बिल भरने में कभी न चूकें.

6. कर्ज़ लेने से जहां तक हो सके बचें.

2020 ने दुनिया को जिस बात का सबसे ज़्यादा अहसास कराया है वो ये है कि किसी की भी नौकरी या बिज़नेस कभी भी ख़त्म हो सकती है. ऐसे में लगातार कमाई की आशा पर कर्ज़ लेना घाटे का सौदा साबित हो सकता है. इसिलए कर्ज़ लेकर कुछ ख़रीदने के बजाए पैसे जमा कर कुछ ख़रीदें. थोड़ा समय लगेगा मगर ज़िंदगी में तनाव कम रहेगा. 

7. स्वास्थ्य और जीवन बीमा कराएं.

आप अपनी गाड़ी के लिए बीमा लेना नहीं भूलते हैं तो ख़ुद के लिए और अपने परिवार के लिए भी बीमा लेना न भूले. हालांकि, ध्यान रहे कि आप अपनी ज़रूरतों के हिसाब से सही बीमा योजना में निवेश करें. बीमा ख़रीदने से पहले ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी इकट्ठा करें और सभी नियम-क़ायदों को समझें.    

पैसों के मामले में समझदार बनिए और दीपावली श्रद्धापूर्वक मनाइए.