मिलिए उम्र में छोटे लेकिन इस बड़े राइटर से, इनका नाम मृगेंद्र राज है. मृगेंद्र छोटा पैकेट बड़ा धमाका हैं. यूपी के रहने वाले 12 साल मृगेंद्र अब तक 135 से ज़्यादा किताबें लिख कर सुर्खियां बटोर रहे हैं.

Source: ndtv.com

एएनआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, मात्र 6 साल की उम्र से मृगेंद्र ने धार्मिक किताबें और जीवनी लिखनी शुरू कर दी थी. मृगेंद्र की पहली किताब कविताओं का संग्रह थी.

Source: intoday

मृगेंद्र को आज उनकी लेखनी के चलते 'आज का अभिमन्यु' नाम से भी जाना जाता है. इसके साथ ही मृगेंद्र के नाम 4 विश्व रिकॉर्ड भी हैं. जिनमें 6 साल की उम्र में सबसे अधिक आत्मकथाएं लिखने और कविता प्रकाशक के रिकॉर्ड शामिल हैं.

एएनआई से बातचीत में मृगेंद्र ने कहा:

"मैंने रामायण के 51 पात्रों का विश्लेषण करने के बाद किताबें लिखी हैं. मेरी किताबें 25 से 100 पृष्ठों के बीच की होती हैं.

हाल ही में मृगेंद्र को लंदन स्थित 'विश्व रिकॉर्ड विश्वविद्यालय' से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त करने का प्रस्ताव भी मिला.

मंज़िलें तलाशी नहीं जाती, क़ाबिल हो तो मंज़िल ख़ुद ब ख़ुद आपके पास आ ही जाती है.