इस ऑनलाइन ज़माने में बहुत से लोगों का क़िताबों से पहले जैसा राब्ता नहीं रहा. पढ़ने-समझने का सारा काम बस एक छोटी सी डिवाइस में क़ैद हो गया है. जो उंगलियां कभी पन्नों से आहिस्ता-आहिस्ता बातें किया करती थीं, अब बस एक क्लिक कर ख़ामोश हो जाया करती हैं. हालांकि, इस डिज़िटल दुनिया में भी कुछ लोग हैं, जिन्होंने क़िताबों की ख़ुशबू को अपने भीतर समेट रखा है.

Source: twitter

दरअसल, एक ट्विटर यूज़र ने क़िताबों से भरे एक कमरे की तस्वीर पोस्ट की है. उसका कहना है कि वो चारों तरफ़ क़िताबों से भरी इस लाइब्रेरी में ही रहता है. एक तस्वीर में दिख रहा है कि एक दीवार ऊपर से नीचे तक एक बुकशेल्फ़ के साथ कवर की गई है. बिल्क़ुल वैसे ही जैसे किसी लाइब्रेरी में होता है. साथ ही एक स्टडी टेबल भी रखी हुई है. एक अन्य तस्वीर में दिख रहा है कि क़िताबों के बीच में एक कॉर्नर पर आरामदायक कुर्सी पड़ी है.

सिर्फ़ इतना ही नहीं, शख़्स ने बताया कि ये कुल क़िताबों का महज़ 70-75 फ़ीसदी हिस्सा है, जो कि कुल मिलाकर क़रीब 8 हज़ार है.

एकसाथ इतनी क़िताबों को सामने पाकर सोशल मीडिया पर लोगों की आह निकल गई. ख़ासकर जिन्हें पढ़ने का शौक हो, वो बस ये मना रहे कि काश ये ख़ज़ाना उनके पास होता है.

यही नहीं, भाईसाब को तो अब ताबड़तोड़ रिश्ते भी आने शुरू हो गए हैं. लड़कियां पूछे डाल रही हैं कि का भइया सिंगल-विंगल हो बताओ, लाइब्रेरी शेयर कर ली जाए.

इन ट्वीट्स को देखकर तो यही लग रहा है कि भइया क़िताबों के बीच रहोगे तो चमकते फ़्यूचर की ‘रेखा’ मिलनी तय है.