गर्मियां आते ही बिजली (Electricity) की कटौती होनी शुरू हो जाती है क्या शहर क्या गांव, हर कोई पावर कट (Power Cut) की समस्या से परेशान रहता है. ग्रामीण इलाकों का तो और भी बुरा हाल होता है. ऐसा ही कुछ कर्नाटक (Karnataka) के एक गांव में रहने वाले हनुमंथप्पा के साथ हो रहा था. वो बिजली कटौती से इतना परेशान हुआ कि उसने इससे निपटने का एक अनोखा तरीका निकाल लिया.

udaipurtimes

दरअसल, कर्नाटक के शिवमोगा ज़िले के रहने वाले हनुमंथप्पा (Hanumanthappa) के गांव मंगोटे में बहुत बिजली कटती है. इस कारण वो अपना फ़ोन भी चार्ज नहीं कर पाते. एक दिन वो खाना बनाने के लिए मिक्सर में मसाला पीसने वाले थे कि बिजली चली गई. 

मजबूरी में उठाया ये कदम

news18

तब उन्होंने मैंगलोर इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कंपनी लिमिटेड (मेस्कॉम) के कस्टमर केयर में कॉल कर शिकायत की. तो उसके कर्मचारी ने मज़ाक में कह दिया कि अगर ज़्यादा ही ज़रूरी है तो वो MESCOM के ऑफ़िस जा कर मसाला पीस लें. हनुमंथप्पा ने उनकी बात को गंभीरता से लिए और अपना फ़ोन और मिक्सर लेकर पहुंच गए MESCOM के ऑफ़िस. 

pepperfry

पिछले कुछ महीनों से वो रोज़ाना अपना मोबाइल चार्ज करने बिजली दफ़्तर ही जाते हैं. उनके ऐसा करने से बिजली विभाग को भी कोई आपत्ति नहीं है. ट्विटर पर अब ये ख़बर वायरल हो रही है. आप भी देखिए लोग कैसी-कैसी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं:  

रोज़ाना आती है बस 3-4 घंटे बिजली (Electricity)

newsfirst

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, हनुमंथप्पा ने अपने घर पर रोज़ाना सिर्फ़ 3-4 घंटे बिजली रहने का ही दावा किया है. बाकी का समय वो अंधेरे में बिताने को मजबूर हैं. इसकी शिकायत उन्होंने कई बार बिजली विभाग को दी. मगर कुछ नहीं हुआ. इसलिए हारकर उन्हें ऐसा करना पड़ा.   

वहीं MESCOM का कहना है कि बारिश का महीना होने के चलते परेशानी हो रही है. अगले महीने से उनके गांव में रेगुलर बिजली की सप्लाई की जाएगी.