इस दुनिया में बच्चों को भगवान का रूप माना जाता है. मां-बाप अकसर बच्चों की ग़लती पर उन्हें दोबारा ग़लती न करने की सीख देते हैं. इस मामले में बच्चों की याददाश्त हम वयस्कों से अच्छी होती है. अगर बच्चों को बचपन से ही अच्छी सीख दी जाये, तो वो इसे ज़िन्दगी भर नहीं भूलते.

चलिए मिज़ोरम के एक ऐसे ही बच्चे के बारे में बताते हैं, जिसने इंसानियत की मिसाल पेश की है.

दरअसल, साइकिल चलाते वक़्त इस बच्चे की साइकिल के नीचे एक 'चूज़ा' आ गया. चूजे को घायल देख इस बच्चे का दिल पसीज गया. इस दौरान उसे अपनी ग़लती का एहसास हुआ और उसने तुरंत घायल चूज़े को हॉस्पिटल पहुंचाया.

Sanga Says नामक फ़ेसबुक यूज़र ने अपने पेज पर ये क्यूट सी स्टोरी शेयर करते हुए लिखा 'मिज़ोरम के सैरंग के इस बच्चे की साइकिल के नीचे पड़ोसी की मुर्गी का चूज़ा आ गया था. इसके बाद ये बच्चा एक हाथ में पैसा और दूसरे में चूज़े को लेकर मदद के लिए हॉस्पिटल जा पहुंचा. ये नज़ारा देखकर मैं एक ही समय में हंस और रो रहा हूं'.

सही मायने में इस बच्चे की इस मासूम और नेक तस्वीर ने हर किसी का दिल जीत लिया.

ये तस्वीर फ़ेसबुक पर शेयर होने के साथ ही वायरल होने लगी, जिसे अब तक 72 हज़ार से ज़्यादा लोग शेयर कर चुके हैं.