पूरी दुनिया कोरोना की चपेट में है. वायरस को फैलने से रोकने के लिए ज़्यादातर देशों में लॉकडाउन है. लोगों को घर के बाहर निकलने से मना किया गया है. लेकिन लोग हैं कि सरकार की बात न मानने की क़सम खाकर बैठे हैं. कुछ तो ऐसे ढीठ हैं कि उनको पुलिस के डंडे भी घर पर नहीं बैठा पा रहे. ऐसे में हाल ही में इंडोनेशिया ने बड़ा ही इनोवेटिव तरीका निकाला. यहां लोगों को लॉकडाउन का पालन कराने के लिए भूतों का सहारा लिया गया. 

मध्य जावा प्रांत के सुकोहारजो रिजेंसी गांव में कुछ लोगों को भूत बनने के काम पर रखा गया, ताकि लोग डर कर घर के अंदर रहें. स्थानिय भाषा में लोग इसे ‘पोकॉन्ग’ बुलाते हैं. हालांकि, कुछ राक्षस प्रवृत्ति के लोग ऐसे हैं, जो फिर भी नहीं माने. ये लोग धड़ल्ले से लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाते घूम रहे. ऐसे में इंडोनेशिया में एक और जबराट ‘पुरानी हवेली’ टाइप हॉरर आइडिया निकाला गया है. 

Source: storypick

Tribun Jateng की रिपोर्ट के मुताबिक़, जो लोग कुछ वक़्त पहले ही अन्य शहरों या फिर दूसरे आइसलैंड से से वापस लौटे हैं. साथ ही जो लोग कोरोनो वायरस के लिए निगरानी में हैं, उन्हें 14 दिनों के लिए सेल्फ़ आइसोलेशन में रहने के लिए कहा गया था. लेकिन ये लोग नहीं माने. ऐसे में जो लोग बाहर पकड़े गए, उन्हें एक चावल के खेतों के बीच में स्थित भूतिया घर में बंद किया जा रहा है.   

Suara की रिपोर्ट के अनुसार, नियमों को न मानने वालों के लिए सर्जन Regent Kusdinar Untung Yuni Sukowati ने अपने ऑफीसर्स से इस भूतिया घर को साफ़ करने के लिए कहा है. 

उन्होंने कहा, ‘अगर कोई भी सेल्फ़ आइसोलेशन के नियमों को तोड़ता है तो बहुत से गांव मेरी इजाज़त के बाद उन लोगों को किसी पुराने स्कूल या घर में बंद कर सकते हैं. आवश्यकता पड़ने पर उन्हें भूतिया घर में भी लॉक किया जा सकता है. हालांकि, उन्हें खाना-पीना मिलेगा और रोज़ मॉनिटर भी किया जाएगा.’ 

Source: guardian

Coconuts Jakarta के मुताबिक़, सर्जन ने आगे बताया कि, ‘प्लूफू के दो लोगों ने सेल्फ आइसोलेशन में रहने के लिए हामी भरी थी, लेकिन बाद में उन्होंने नियमों को तोड़ा. जिसकी वजह से उन्हें एक भूतिया घर में बंद कर दिया. अगर वो ऐसा नहीं करते तो उन्हें ये सज़ा नहीं मिलती.’ 

लॉकडाउन को तोड़ने वाले ऐसे भूतिये लोगों को मिली इस हॉरर सज़ा पर आप लोगों की क्या राय है? हमें कमंट बॉक्स में ज़रूर बताएं.