भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी हार्दिक पांड्या आज स्टाइल आइकॉन हैं, कई ब्रैंड को इंडॉर्स करते हैं. फ़ैशन डिज़ाइनर्स के लिए रैंप वॉक करते हैं, बड़ी गाड़ियों में चलते हैं, महंगे शौक़ हैं. लेकिन उनकी ज़िंदगी हमेशी से ऐसी नहीं थी.

Source: Hindustan Times

गुजरात के सूरत में जन्में हार्दिक के पिता की एक छोटी सी कार फ़िनानसिंग बिज़नेस हुआ करता था, दोनों बेटों को क्रिकेटर बनना था. इसलिए हिमांशु पांड्या अच्छी कोचिंग के लिए सपरिवार वडोदरा शिफ़्ट हो गए. तब का फ़ैसला सही रहा, दोनों बेटे भारतीय टीम के हिस्सा हैं.

Source: DNA

हार्दिक ने उन दिनों को याद करते हुए अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक पुरानी तस्वीर डाली. जिसमें वो ट्रक की सवारी कर रहे हैं. उन्होंने लिखा है कि स्थानीय इलाकों में खेलने जाने के लिए ट्रकों का इस्तामाल ही किया करते थे. हार्दिक ने आगे लिखा कि उन्हें इस खेल से प्यार है.

हार्दिक की इस तस्वीर को इंस्टाग्राम पर 10 लाख से ज़्याद लोगों ने पसंद किया और कमेंट कर उनकी मेहनत और लगन की तारीफ़ की.