2021 को लेकर पहली बड़ी ख़बर सामने आई है. कहा जा रहा है कि आने वाले साल में कुल चार ग्रहण पड़ेंगे. हांलाकि, हिंदुस्तान में सिर्फ़ दो ही खगोलीय घटनाओं का नज़ारा देखने को मिलेगा. उज्जैन के शासकीय जीवाजी वेधशाला के अधीक्षक डॉ. राजेंद्र के मुताबिक, चारों ग्रहण में से एक पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा और दूसरा पूर्ण चंद्र ग्रहण.

eclipses
Source: indiatimes

मीडिया से बातचीत के दौरान डॉ. राजेंद्र ने ये भी बता दिया है कि साल का पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण 26 मई को दिखाई देगा. जानकारी के अनुसार, ग्रहण पश्चिम पूर्वोत्तर के राज्यों, बंगाल और ओडिशा के कुछ क्षेत्रों में दिखाई देगा. इसकी वजह है कि देश के बाक़ी हिस्सों के मुक़ाबले यहां चांद पहले दिखाई देता है. वहीं सिक्किम के लोग इस खगोलीय घटना का लुत्फ़ नहीं उठा पायेंगे.

Four eclipses in 2021,
Source: financialexpress

जिन लोगों को नहीं पता है उन्हें बता दें कि जब चंद्रग्रहण तब पड़ता है, जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा के बीच होती है. इस दौरान पृथ्वी चंद्रमा को क़रीब 101.6 प्रतिशत तक ढक लेगी. वहीं 19 नवंबर होने वाला आंशिक चंद्रग्रहण अरुणाचल प्रदेश सहित असम के कुछ हिस्सों में देखा जा सकेगा. ख़बर ये भी है कि 10 जून और 4 दिसबंर को होने वाला सूर्यग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा. 4 दिसबंर को पड़ने वाला सूर्यग्रहण साल का अंतिम ग्रहण होगा.  

eclipses
Source: indiatimes

ख़ैर अब 2021 के इंतज़ार के सिवा है ही क्या?