कल का दिन वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण का था, आज रेल और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने सभी ट्रोल्स को अपनी ओर खींच लिया है. कल ओला-ऊबर और मिलेनियल्स ट्रेंड कर रहे थे, आज आइंस्टीन-न्यूटन और मैथ्स ट्रेंड कर रहा है. आखिर कैसे उड़ता हुआ तीर पीयूष गोयल जी ने अपनी ओर मोड़ लिया? 

Source: Business Standard

वाणिज्य मंत्री होने के नाते एक प्रेस वार्ता में पत्रकार ने पीयूष गोयल से पूछा कि जिस रफ़्तार से अर्थव्यवस्था आगे बढ़ रही है, हम 5 ट्रिलियन की इकॉनमी कैसे बनेंगे? इस पर मंत्री जी को कोई जवाब न सूझा, तो कह बैठे कि टीवी पर दिखाए जाने वाले नंबर्स के चक्करों में मत पड़िये. अगर आइंस्टीन गणीत के चक्कर में पड़ता तो कभी गुरुत्वाकर्षण की खोज न कर पाता. 

पहली ग़लती, आइंस्टीन ने नहीं, न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण के सिद्धांत दिए थे. दूसरी गलती, गुरुत्वार्षण के सिद्धांत पूरी तरह से गणित पर आधारित हैं. न्यूटन का धरती माता पर विश्वास नहीं था! 

ट्विटरलोक के महारथियों के लिए इतना मसाला काफ़ी था. अगले पल ही ट्विटर पर सबसे बेस्ट जोक मारने की होड़ मच गई. 

ये सरकार विकास की कमी जोक से पूरी कर रही है. असली मुद्दा है जनता को खुश रखना है, तरीका मैटर नहीं करता.