बीते शुक्रवार को माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने अमेरिकी राष्ट्रपति, डॉनल्ड ट्रंप के अकाउंट को हमेशा के लिए सस्पेंड कर दिया. CNN की एक रिपोर्ट के अनुसार, ट्रंप के 88.7 मिलियन फ़ॉलोअर्स थे. 

ट्विटर ने ट्वीट के ज़रिये कहा कि भविष्ट में हिंसा भड़काने के ख़तरे को देखते हुए ट्रंप के अकाउंट को हमेशा के लिए सस्पेंड करने का निर्णय लिया गया है.  

Source: People

एक ट्वीट के अनुसार अकाउंट सस्पेंड किए जाने के बाद ट्रंप ने दूसरे ट्वीटर अकाउंट्स से ट्वीट करने की कोशिश की लेकिन सारे अकाउंट्स सस्पेंड कर दिए गए. 

बीते बुधवार को ट्रंप के समर्थकों ने वॉशिंगटन डी.सी में तोड़-फोड़ की और US Capitol में घुस आये. इस हिंसा में 5 से ज़्यादा लोगों की जानें गईं और कई ज़ख़्मी हुए.

ट्विटर ने ट्रंप के अकाउंट को कुछ समय के लिए ब्लॉक किया था और हमेशा के लिए सस्पेंड करने की चेतावनी दी थी. ट्रंप को अकाउंट अनब्लॉक होने से पहले 3 ट्वीट हटाने थे.

Source: Mashable
Source: The Indian Express

फ़ेसबुक ने भी ट्रंप के अकाउंट को सस्पेंड करने की घोषणा की थी. हालांकि ये सस्पेंशन हमेशा के लिए नहीं है और सिर्फ़ ट्रंप के सत्ता छोड़ने तक की अवधि के लिए है. 

ट्रंप, ट्विटर के ज़रिए अपने विचार रखते थे और अपनी सोच, विचार समर्थकों और दुनिया तक पहुंचाते थे. ट्विटर का सहारा लेकर ट्रंप ने कई बार झूठ बोला, केबिनेट सेक्रेट्रीज़ को निकाला, विपक्ष के लिए अपशब्द कहे और अपने समर्थकों को भड़काया. बतौर राष्ट्रपति ट्रंप के कम्युनिकेशन का फ़ेवरेट ज़रिया था ट्विटर. 

ट्विटर की प्रतिक्रिया-