लखनऊ के डालीगंज चौराहे पर दो लोगों ने गुंडई करते हुए ड्राई फ़्रूट्स बेचने वाले एक कश्मीरी फेरीवाले को बुरी तरह से पीटा. ख़ुद को विश्व हिन्दू दल का बताने वाले एक आरोपी के हिसाब से ये ही लोग कश्मीर में सेना पर पत्थर मारते हैं. जिसको फेरी वाले को ये 'पत्थरबाज़' कह कर पीट रहे थे, वो आदमी एक चादर में ड्राई फ्रूट्स रख कर बेचता है.




ये मारपीट और बढ़ सकती थी अगर आस-पास के लोग इन्हें रोकने नहीं आते. इन आरोपियों में पकड़े गए एक, बजरंग सोनकर को गिरफ़्तार कर लिया गया है. ये वीडियो आप अभी तक अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म्स और न्यूज़ चैनल पर देख चुके हैं.



हालांकि पकड़े जाने से पहले ही सोनकर अपनी फ़ेसबुक प्रोफाइल पर अपनी इस 'उपलब्धि' की वीडियो डाल चुका था. उसके हिसाब से वो इस निहत्थे फेरीवाले को मार कर 'पुलवामा' का बदला ले रहा था.


बजरंग सोनकर की घटिया मानसिकता की तरह हा इस बात का जश्न मनाने वाले और कई भी थे: हिमांशु अवस्थी नाम का आदमी, जो ख़ुद को विश्वास हिन्दू दल का अध्यक्ष कहता है. उसने ये वीडियो अपने फ़ेसबुक पर अलग ही जोश से शेयर किया.

इस मामले के दूसरे आरोपी ने भी ये वीडियो अपलोड किया था लेकिन फ़िलहाल ये वीडियो दोनों की ही प्रोफ़ाइल से हटा लिया गया है. सोनकर की गिरफ़्तारी के बाद लखनऊ के SSP कलानिधि नैथानी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि सोनकर पर पहले से ही हत्या समेत 12 केस चल रहे हैं.

अफ़सोस की बात ये है कि सोनकर को अपनी इस हरकत का कोई पछतावा नहीं. ये आप जेल से लिए गए उसके इस इंटरव्यू में आराम से देख सकते हैं. ये इंटरव्यू Times Now ने लिया था.

हमें ये पता है कि इस घटना को किसी और घटना से जोड़ कर, इसे जस्टिफ़ाई करने वालों की कमी नहीं होगी. इन लोगों को सच में सोचना होगा कि वो किस तरह की मानसिकता, किस तरह की सोच के साथ खड़े हैं और ये सोच उन्हें कहां ले जाएगी.