अयोध्या का एक मामला शांत हुआ तो लगा कि अब कुछ नया सुनने को मिलेगा. लेकिन अयोध्या को लोगों ने उस सेलेब्रिटी की तरह बना दिया है, जो लाइमलाईट से दूर ही नहीं रह सकते. अब क्या और किसने किया, ये सोच रहे हैं आप? तो सुनिए, दिल्ली की दो बहने इलाहबाद कोर्ट पहुंची हैं और उनका दावा है कि जो 5 एकड़ ज़मीन सुन्नी बफ़ बोर्ड को मिली है, वो असल में उनकी है. 

Court
Source: indialegallive

इस पेटिशन में लिखा है कि सुन्नी बोर्ड को दी गई ज़मीन उनके नाम है और उस ज़मीन के कागज़ात उनके पास हैं. कोर्ट ने पेटिशन को स्वीकार कर 8 फरवरी को सुनवाई करने की बात कही है. 

mosque
Source: zeenews

रानी बलूजा और रामा रानी पंजाबी नाम की बहनें बताती है कि उनके पिता ज्ञान चंद्र पंजाबी पाकिस्तान बटवारे के वक़्त अयोध्या (जो उस वक़्त फ़ैज़ाबाद हुआ करता था) आ गए थे. उन्होनें बताया कि उनके पिता को ये ज़मीन 5 साल के लिए आवंटित की गई थी और ये ज़मीन उनके पास तय समय से अधिक तक रही थी. उनका नाम राजस्व रिकॉर्ड में शामिल भी किया गया था लेकिन कुछ वक़्त बाद उनका नाम लिस्ट से हटा दिया गया था. इसी कारण उनके पिता ने याचिका दायर की थी. 

mosque
Source: dnaindia

दोनों बहनों को कहना है कि अभी ये मामला चल रहा और जब तक इस मामले पर फ़ैसला न आ जाए, तब तक सुन्नी बफ़ बोर्ड दी गई ज़मीन पर कार्य न करें. 

8 फरवरी को सुनवाई के बाद पता चलेगा कि ये अयोध्या शहर का नया ऊंट किस करवट बैठेगा.