सोशल मीडिया पर इन दिनों एक नफ़रत फैलाने वाला गाना बड़ा वायरल हो रहा है. गाने का नाम है 'जो न बोले जय श्री राम, भेज दो उसको क्रबिस्तान'. इस नफ़रत फ़ैलाने वाले गाने के कंपोज़र को यूपी पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ़्तार कर लिया.

यूपी पुलिस ने 4 लोगों को अरेस्ट किया है जिन्होंने गाने की कंपोज़िंग और अपलोडिंग की थी. इन चारों पर समाज में नफ़रत फ़ैलाने के आरोप लगाए गए हैं.

गाने के वायरल होने के बाद पुलिस के पास कई शिकायतें आई थीं, जिसके बाद पुलिस को एक्शन लेना पड़ा. जिन 4 लोगों को अरेस्ट किया गया है उनमें, YouTube चैनल, जनता म्यूज़िक के मालिक राजेश कुमार वर्मा, गाना लिखने वाले मुकेश पांडे, संतोष यादव और वरुण उपाध्याय (बहार) हैं. वर्मा को लखनऊ के अलीगंज से पकड़ा गया, वहीं बाकी तीनों को गोंडा ज़िले से गिरफ़्तार किया गया.

jo na bole jai shri ram
Source: thehindu

लखनऊ पुलिस में एसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि चारों की स्टेटमेंट को दर्ज कर लिया गया है. उनसे ये भी पूछा जा रहा है कि क्या उन्होंने ये गाना किसी और सोशल मीडिया पर भी अपलोड किया है.

अपने पर्सनल YouTube चैनल पर वीडियो अपलोड करने वाले वरुण बहार ने हिंदू भाईयों, बजरंग दल और हिंदू युवा वाहिनी से मदद मांगी है. वरुण ने कहा कि उसका मकसद किसी भी कम्युनिटी की भावना को ठेस पहुंचाना नहीं था. उसने ये गाना अपने धर्म के लिए गाया है, जिससे वो बेहद प्यार करता है. अपने आप को भोजपुरी सिंगर बताने वाले वरुण बहार ने दावा किया कि उनके इस वीडियो को 1 हफ़्ते में 2 लाख से ऊपर व्यूज़ मिले हैं.

वहीं गाना लिखने वाले संतोष यादव ने भी वरुण वाली ही बात कही है. संतोष ने भी कहा कि ये गाना उन्होंने हिंदुत्व और अपने धर्म के लिए लिखा है. यादव ने आरोप लगाया कि जो लोग राम नाम को पसंद नहीं करते, वो चाहते हैं कि मैं गिरफ़्तार हो जाऊं. साथ ही यादव ने कहा कि हम हर स्थिति के लिए तैयार हैं. अगर हम सबको फ़ांसी पर भी चढ़ा दिया गया, तो भी वो राम का नाम जपना नहीं छोड़ेंगे.

हालांकि जनता म्यूज़िक एंड पिक्चर नाम के YouTube चैनल के मालिक राजेश वर्मा ने माफ़ी मांग ली है. उन्होंने कहा कि 'उनके चैनल का कभी ये इरादा नहीं था कि वो किसी कास्ट या धर्म को हर्ट करें. हम ऐसी वीडियो भविष्य में कभी नहीं बनाएंगे या अपलोड करेंगे. यहां तक की वो वीडियो भी उन्होंने 22 जुलाई को ही डिलीट कर दी थी, जब ये लोगों की नजर में आयी.