कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया में दहशत का माहौल है. वहीं दूसरी तरफ यूपी पुलिस के एक अधिकारी ने इसका बहाना बना कर अपने काम से पल्ला झाड़ने की कोशिश की है. उनका एक ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसमें वो एक छेड़छाड़ की पीड़िता का बयान न दर्ज कर पाने का कारण ख़ुद को कोरोना वायरस से संक्रमित होना बता रहा है. 

sciencing

एनबीटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ये पूरा मामला कानपुर के चकेरी क्षेत्र का है. यहां एक महिला के साथ कुछ गुंड़ों ने छेड़छाड़ की. इसकी रिपोर्ट उन्होंने चकेरी थाने में दर्ज करवाई. ये केस थाने के एस.आई. राम आसरे त्रिपाठी के पास है. मगर उन्होंने अभी तक पीड़िता का बयान दर्ज नहीं किया है.

indianexpress

जब इस बारे में पीड़िता के घरवालों ने पूछा तो, उन्होंने फ़ोन पर कहा- ‘मैं कोरोना वायरस से पीड़ित हूं. अगर जीवन रहा तो बयान दर्ज कर लेंगे.’ उनके इस रवैये से महिला के परिवार को शक हुआ कि वो मामले को टालने कि कोशिश कर रहे हैं. इसलिए उन्होंने दोबारा कॉल कर उनकी बातों को रिकॉर्ड कर लिया और सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया. हालांकि, ये क्लिप मिली नहीं है

जैसे ही ये बात लोगों में फैली तब जाकर वरिष्ठ अधिकारियों की नींद खुली. उन्होंने इस संदर्भ में आरोपी दरोगा से स्पष्टीकरण मांगा है. उनका कहना है अगर उन्हे दोषी पाया जाता है तो कार्रवाई की जाएगी. वहां दारोगा का कहना है कि वो मज़ाक कर रहे थे.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.