अक्सर त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब से ऐसे बयानों की उम्मीद रहती है, लेकिन इस श्रेणी में एक नए दावेदार तेज़ी से उभर रहे हैं, वो भी उन्हीं के पार्टी की ओर से. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गाय की काबिलियत को लेकर कुछ नए दावे पेश किए हैं.

Source: tv9bharatvarsh

कुछ दिनों पहले एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा था कि गाय एकमात्र ऐसा पशु है जो प्राण-वायु यानी ऑक्सीजन छोड़ती है, उसके साथ वक़्त बिताने से टीबी भी ठीक हो जाती है.

'गाय का गोबर और गोमूत्र दिल और किडनी समेत पूरे शरीर के लिए लाभदायक है. अगर कोई गाय के नज़दीक रहे तो उसकी TB ठीक हो सकती है. हमारे वैज्ञानिक अब इन तथ्यों की पुष्टि कर रहे हैं.'

- मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत

एक तो ऐसे नेता अपने बयानों को जस्टिफ़ाई करने के लिए बिना सिर-पैर के विज्ञान का सहारा लेते हैं, थोड़ी मेहनत कर विज्ञान के किताबों को भी पढ़ लेते तो बाद में ऐसी फज़ीहत न होती.

भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर पहले ही गौमूत्र और गाय को सहला कर अपना कैंसर ठीक कर लेने का दावा कर चुकी हैं.

कुछ दिनों पहले नैनीताल-ऊधम सिंह नगर से बीजेपी सांसद अजय भट्ट ने भी एक अजीब बयान दिया था. सांसद जी के अनुसार अगर महिलाएं कुमाउं से बागेश्वर तक बहने वाली गरुड़ गंगा के पानी को पिए तो वो सीजेरियन डिलीवरी से बच सकती हैं.