शहरों में हरियाली बरकारर रखने के लिए और वहां के निवासियों को घूमने-फिरने के लिए जंगल जैसा क्षेत्र मुहैया कराने के उद्देश्य से Urban Forest का विकास किया जाता है. ऐसे जंगली क्षेत्रों का विकास करने वाले राज्यों की लिस्ट में अब उत्तराखंड का भी नाम जुड़ गया है.

इस नवरात्रि के पहले दिन यानी 17 अक्टूबर को उत्तराखंड का पहला Urban Forest लोगों के लिए खोल दिया जाएगा. ये क्षेत्र झाझर वन रेंज के अंतर्गत आता है. 

Source: ANI

इस क्षेत्र में वायु प्रदूषण के गंभीर स्तर को कम करने के लिए इस Urban Forest को विकसित किया गया है. यहां पर आने वाले लोगों को राज्य के जीवों और वनस्पतियों के बारे में विस्तृत जानकारी भी प्रदान की जाएगी. 43 लाख रुपये की लागत से, 3 साल में विकसित हुआ 'आनंद वन' 50 हेक्टेयर के इलाक़े में फैला हुआ है. 

ANI से बात करते हुए आनंद वन की डिज़ाइनर साधना जयराज ने कहा कि ये जंगल लोगों को प्रकृति के और नज़दीक जाने का मौका देगा.

उन्होंने बताया कि आनंद वन में पैदल चलने के लिए और साइकिल चलाने के लिए अलग-अलग ट्रैक बनाए गए हैं. साथ ही पार्क को ऐसे डिज़ाइन किया गया है कि लोग क़रीब से प्रकृति के सौंदर्य का आनंद ले पाएंगे.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि आनंद वन को केंद्र सरकार की City Forest के कॉन्सेप्ट पर विकसित किया गया है. 

देश के बाक़ी शहरों के लिए इस तरह के हरे-भरे क्षेत्रों का विकास अनुकरणीय है.