जब से नए ट्रैफ़िक रूल्स आए हैं, हमेशा डर बना रहता है कि कहीं चेकिंग में पकड़े गए तो कोई पेपर कम न पड़ जाए. वडोदरा के राम शाह ने इस डर विजय हासिल कर लिया है.

आपने कहावत सुनी होगी- आवश्यकता जुगाड़ की मम्मी होती है. इंश्योरेंस एजेंट राम शाह ने भी तगड़ा जुगाड़ लगाया और बाइक के लिए ज़रूरी सभी कागज़ात अपने हेलमेट में चिपका लिया.

Source: India Today

काम की वजह से राम शाह को हमेशा अपने बाइक पर घूमना पड़ता है. बेचारे कितने चौक-चौराहों पर पेपर दिखाते रहते, एक बार में झंझट ही ख़त्म कर दिया. राम शाह का कहना है कि इसकी वजह से उन्हें आज तक किसी प्रकार का फ़ाइन नहीं भरना पड़ा है. उनके हेलमेट में ड्राइविंग लाइसेंस, RC, PUC और इंश्योरेंस की स्लिप चिपकी रहती है.

Source: India Today

बता दें कि Motor Vehicles Amendment Act 2019 अभी गुजरात में लागू नहीं हुआ है. राज्य सरकार चालान के दरों पर विचार-विमर्श करके इसे लागू करने की तैयारी में जुटी हुई है.