धार्मिक सौहार्द की मिसाल पेश करते हुए श्री माता वैष्णो देवी श्राइन ने मुस्लिमों की सहरी और इफ़्तारी की व्यवस्था की. कटरा के आशीर्वाद भवन में रमज़ान के महीने में क्वारंटाइन में रह रहे लगभग 500 मुस्लिमों के लिए ये व्यवस्था की गई.


कोविड19 की वजह से मार्च में ही आशीर्वाद भवन को क्वारंटाइन सेंटर में बदल दिया गया था.

बोर्ड के सीईओ रमेश कुमार Hindustan Times से बात-चीत में बताया,

'रमज़ान के महीने में श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड मुस्लिम भाई-बहनों को सहरी और इफ़्तारी करवाने के लिए दिन-रात मेहनत कर रहा है.'

Source: Hindustan Times
हम आशीर्वाद भवन में क्वारंटाइन सेंटर चला रहे हैं जिसमें 500 बिस्तर हैं. क्योंकि ये रमज़ान का पाक़ महीना है और जम्मू कश्मीर सरकार देश के अलग-अलग शहरों से यहां के बाशिंदे ला रही है इसलिए हमने मार्च के आख़िर में भवन को क्वारंटाइन सेंटर में बदल दिया. 

                    - रमेश कुमार

इस क्वारंटाइन सेंटर में आने वाले ज़्यादातर मज़दूर हैं जो रमज़ान में उपवास रखते हैं. इसलिए रमेश कुमार ने उनके लिए सहरी और इफ़्तारी की व्यवस्था करने का निर्णय लिया.


रमेश कुमार ने ये भी बताया कि श्राइन बोर्ड अन्य सरकारी क्वारंटाइन सेंटर में भी लोगों को खाना पहुंचाने का काम कर रही है. Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, 20 मार्च से कटरा के अलग-अलग क्वारंटाइन सेंटर में ज़रूरतमंदों को लगभग 80 लाख का खाना पहुंचाया जा चुका है.