भारतीय पॉलिटिक्स बड़ी मज़ेदार चीज़ है, कोई न कोई हर दूसरे दिन एक नया शगूफ़ा छोड़ता रहता है, सबका मन लगा रहता है. ताज़ा मामला शिव सेना के नेता संजय राउत का है.

Source: Prabhasakshi

मुंबई मिरर की रिपोर्ट के अनुसार राज्य सभा में आयुर्वेद के फ़ायदों पर बहस के दौरान वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कहा कि सभी मुर्गीपालन फ़ार्म के प्रोडक्ट जैसे- अंडा और चिकन को शाकाहारी घोषत कर देना चाहिए.

संजय राउत ने कहा कि Ministry Of Ayurveda, Yoga & Naturopathy, Unani, Siddha & Homoeopathy (AYUSH) को ये तय करना चाहिए कि 'चिकन' शाकाहार है या मांसाहार है.

मुंबई मिरर से हुई बातचीत में संजय राउत ने कहा, 'एक बार मैं नंदुरबार के छोटे से इलाके में गया. आदिवासी लोगों ने आकर हमें खाना परोसा. जब मैंने उनसे पूछा कि ये क्या था, तो उन्होंने बताया कि वो एक आयुर्वेदिक चिकन था. उन्होंने ये भी कहा कि हम उसे ऐसे रखते हैं कि उसे खाने के बाद आपकी सभी बिमारियां चली जाएंगी.'

इतनी बड़ी बात सुनने के बाद ट्विटर की जानता शांति से कैसे बैठ सकती थी.

सांसद जी ने भी दावा किया कि कई रिसर्च में कहा गया है कि आयुर्वेदिक अंडा देने वाली मुर्गी को आयुर्वेदिक खाना ही खिलाया जाता है, जिसे शाकाहारी इंसान भी खा सकते हैं.