भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर काफ़ी समय से तनाव जारी है. दोनों देश लगातार सीमा विवाद का शांतिपूर्ण हल निकालने के लिए बातचीत कर रहे थे. इस बीच गलवान घाटी से बड़ी ख़बर आई है. सोमवार रात यहां दोनों देशों की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई है, जिसमें भारतीय सेना के एक अधिकारी और दो सैनिकों की मौत हो गई है. भारत सरकार के आधिकारिक बयान में कहा गया है कि ये संघर्ष गलावन वैली सीमा पर सैनिकों के पीछे हटने के दौरान हुआ है.  

Source: theprint

‘गलवान घाटी में डी-एस्केलेशन की प्रक्रिया के दौरान भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई. इस दौरान भारतीय सेना के एक अधिकारी और दो सैनिक शहीद हो गए हैं. दोनों देशों के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी इस वक़्त मामले को शांत करने के लिए बड़ी बैठक कर रहे हैं’.  

ये भी बताया गया कि सिर्फ़ भारत ही नहीं बल्क़ि चीन के तरफ़ भी सैनिकों को चोट पहुंची है. भारतीय सेना मु्ख्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इस झड़प में चीनी सैनिकों को भी नुक़सान उठाना पड़ा है. हालांकि, चीन के कितने सैनिक मरे या घायल हुए इस पर अभी स्पष्ट जानकारी नहीं है.   

इस बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेना प्रमुखों और विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और चीफ़ ऑफ डिफ़ेंस स्टाफ़ जनरल बिपिन रावत के साथ बैठक की, जिसमें पूर्वी लद्दाख के घटनाक्रमों पर चर्चा की गई है.  

बता दें, काफ़ी समय से दोनों देशों की सेनाओं के बीच सीमा पर तनातनी चल रही है. दरअसल, चीन सैनिकों ने भारतीय सीमा में प्रवेश कर लिया था और वो पेंगोंग झील और गलवान घाटी के पास आ गए थे. दोनों ही देशों ने बड़ी संख्या में अपने सैनिकों को सीमा पर तैनात कर दिया था. हालांकि, भारत-चीन के अधिकारी लगातार एक-दूसरे के संपर्क में थे.