दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया में नागरिकता संशोधन क़ानून पर हो रहे विरोध ने रविवार को उग्र रूप ले लिया था. इसके बाद मंगलवार को पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर में CAA के ख़िलाफ़ हो रहे विरोध प्रदर्शन ने भी उग्र रूप ले लिया. विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शकों और पुलिस के बीच भिड़ंत हुई.


India Today की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस के मुक़ाबले प्रदर्शकों की संख्या काफ़ी ज़्यादा थी. पुलिस द्वारा छोड़े गए आंसू गैस के गोलों से सांस लेने में कठिनाई हो रही थी.

Source: Twitter

NDTV की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने लगभग 2000 लोगों की भीड़ को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के साथ-साथ बेटन का इस्तेमाल किया. अभी आईं रिपोर्ट्स के मुताबिक़, भिड़ंत में 2 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं.

Source: Twitter

मौक़े पर मौजूद एक शख़्स ने बताया कि शांतिपूर्ण विरोध ने अचानक ही उग्र रूप ले लिया.

DMRC ने बेकाबू होते हालात को देखते हुए कुछ समय के लिए कुछ मेट्रो स्टेशन के एंट्री और एक्ज़िट गेट बंद किये थे.

बाद में DMRC ने ट्वीट करके जानकारी दी कि मेट्रो के दरवाज़े खोल दिये गये हैं.