कोविड-19 वॉरियर्स को वक़्त पर पगार न मिलने, कम पगार मिलने की कई ख़बरें देश के कोने-कोने से आ रही हैं. जान हथेली पर रखकर दिन-रात हमारे लिए लड़ने वाले ये वॉरियर्स के साथ भेदभाव की भी ख़बरें आ रही हैं.

पैंडमिक के बीच पश्चिम बंगाल से एक अच्छी ख़बर आई है
The New Indian Express की एक रिपोर्ट के अनुसार, पश्चिम बंगाल सरकार ने बीते सोमवार को जूनियर डॉक्टर्स, हाउस स्टाफ़ की पगार और स्टाइपेंड बढ़ाने की घोषणा की. राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे अस्पतालों के जूनियर डॉक्टर्स और इंटर्नस के उत्साहवर्धन के लिए ये निर्णय लिया गया है.  

Source: Business Today

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री, चंद्रीमा भट्टाचार्य ने कहा कि राज्य भीषण आर्थिक संकट से गुज़र रहा है, ऐसे हालात में भी राज्य ने डॉक्टर्स के नि:स्वार्थ सेवा की सराहना करते हुए ये छोटी सी भेंट है.

1 जनवरी से ही ये अमल में लाया जायेगा. अभी इंटर्नस को 28,050 मिले रहे हैं, उनकी पगार में 4,425 रुपये बढ़ाए जायेंगे. हाउस स्टाफ़ के पगार में 5,367 रुपये बढ़ाये जायेंगे.   

Source: Economic Times

पहले, दूसरे और तीसरे साल के पोस्ट-ग्रैजुएट ट्रेनीज़ को 43,758; 47,124 और 50,490 रुपये बतौर सैलरी दी जायेगी.

फ़र्स्ट ईयर पोस्ट-डोक्ट्रल ट्रेनीज़ का स्टाइपेन्ड, 53,856 प्रति महीने, सेकेन्ड ईयर और थर्ड ईयर का 57,222 और 60,588 रुपये किया गया है.