हाल ही में भारत के पहले चीफ़ ऑफ़ डिफेंस स्टाफ़ जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) की हेलीकॉप्टर क्रैश से हुई मौत ने पूरे देश को हैरान कर दिया था. इस दुर्घटना के पीछे की वजह ढूंढने के लिए तेज़ी से जांच चल रही है. इसके पीछे कुछ विशेषज्ञ हेलीकॉप्टर में कमी ठहरा रहे हैं तो कुछ मौसम को इस बात का ज़िम्मेदार मान रहे हैं. कुछ का मानना है कि इस घटना के पीछे हेलीकॉप्टर पर प्राकृतिक बिजली गिरने की भी बड़ी संभावना हो सकती है. 

तो आइए जानते हैं कि वास्तव में क्या होता है जब हेलीकॉप्टर पर बिजली गिरती है-

gen bipin rawat helicopter crash
Source: cnn

कई फैक्टर्स पर करता है निर्भर

दुनिया भर के विमान लगभग रोजाना बिजली की चपेट में आते हैं. कमर्शियल सर्विस में एक हवाई जहाज हर साल औसतन एक बार बिजली के झटके से प्रभावित होता ही है. हालांकि, जिस फ्रीक्वेंसी से एक विमान हिट होगा, वो कई फैक्टर्स पर निर्भर करता है.

इसमें ये देखा जाता है कि विमान ने कितने टेक-ऑफ़ और लैंडिंग की हैं. क्योंकि बिजली का 5,000 और 15,000 फीट के बीच गिरना ज़्यादा सामान्य है. ये भौगोलिक कारकों पर भी निर्भर करता है. उदाहरण के लिए, इसका फ्लोरिडा और अमेरिका के पश्चिमी तट की तुलना में भूमध्य रेखा के आस पास गिरना बहुत अधिक आम है.

helicopter lightening
Source: reddit

ये भी पढ़ें: क्या आप जानते हैं हेलीकॉप्टर ख़रीदने के लिए कौन-कौन से डॉक्युमेंट्स चाहिए होंगे और क्या हैं नियम?

विमान पर बिजली गिरने पर क्या होता है?

एल्युमिनियम करंट का नेतृत्व करता है. बिजली आमतौर पर विमान के उभरे हुए हिस्से से टकराती है. जैसे कि नाक या पंख की नोक पर. ये करेंट विमान की बॉडी के साथ यात्रा करता है और कम से कम प्रतिरोध का रास्ता चुनता है. हालांकि विमान के अंदर एक टूल मौजूद होता है, जो यात्रियों और पूरे विमान की रक्षा करता है. 

क्या हो सकता है नुकसान?

अगर कोई विमान बिजली की चपेट में आता है, तो पायलट ये सुनिश्चित करने के लिए सभी सिस्टम की जांच करते हैं. वो ये देखते हैं कि सब कुछ ठीक उसी तरह काम कर रहा है जैसा उसे करना चाहिए. बिजली गिरने से विमान के इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट्स ख़राब होने की आशंका रहती है. साथ ही उन जगहों पर छोटे-छोटे छेद दिखाई दे सकते हैं जहां से करेंट प्रवेश करता है.

helicopter hit lightening
Source: verticalmag

ये भी पढ़ें: जानिए क्या होता है 'BLACK BOX', जिसमें छुपे होते हैं प्लेन या हेलीकॉप्टर हादसे के सभी राज़

विमान भी चमका सकते हैं बिजली

कई बार विमान ही बिजली चमकने का कारण होते हैं. कई हाई वोल्टेज के बादलों के पास से गुजरने के दौरान विमान से भी बिजली चमकती है. इसी वजह से आजकल पायलट को बिजली से बचने की सुविधा और ट्रेनिंग दोनों दी जाती है. 

क्या यात्री विमान पर बिजली का गिरना महसूस कर सकते हैं?

जब विमान पर बिजली गिरती है तब यात्रियों को एक तेज़ आवाज़ सुनाई देती है. लेकिन विमान की सेंसिटिव जगहों पर ऐसी स्थिति से निपटने के पूरे इंतज़ामात होते हैं. इसलिए कुछ गंभीर होने के चांसेस काफ़ी कम रह जाते हैं. 

when lightening strikes helicopter
Source: aerocorner

जनरल विपिन रावत हेलकॉप्टर हादसे में क्या हुआ होगा? इसकी अब तक किसी को कोई जानकारी नहीं है.