पीएम मोदी ने बीते रविवार को स्टे्च्यू ऑफ़ यूनिटी(केवड़िया) तक जाने वाली एक स्पेशल ट्रेन का उदघाटन किया. ये ट्रेन अहमदाबाद से केवड़िया के बीच चलाई जाने वाली जन शताब्दी एक्सप्रेस है. इस ट्रेन की ख़ासियत ये है कि इसमें विस्टाडोम (Vistadome) कोच लगाया गया है. ये आपके सफ़र को और भी आरामदायक और मनोरंजक बना देगा.

चलिए जानते हैं इंडियन रेलवे द्वारा बनाए गए Vistadome कोच की कुछ ख़ासियतों के बारे में.

Vistadome कोच क्या हैं?

Vistadome coach
Source: twitter

विस्टाडोम कोच भारतीय रेलवे के अत्याधुनिक तकनीक से बने लेटेस्ट कोच हैं. इनमें छत और खिड़कियों में बड़े-बड़े शीशे लगे होते हैं. इनमें यात्रा करने का एक्सपीरियंस काफ़ी अद्भुत होगा. इनमें बैठे यात्री बड़े आराम से आस-पास के नज़ारों को देख पाएंगे. इनका निर्माण चेन्नई की इंटीग्रल कोच फै़क्ट्री में हुआ है. इन्हें Linke Hofmann Busch प्लेटफ़ॉर्म पर बनाया गया है. 

विस्टाडोम कोच की विशेषताएं 

Vistadome coach
Source: indianexpress

पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए बने इन स्पेशल कोच में 44 चेयरकार सीट्स हैं. ये 180 डिग्री तक सभी दिशाओं में घूम सकती हैं. हर सीट में नीचे चार्जिंग प्वॉइंट, संगीत सुनने के लिए डिजिटल स्क्रीन स्पीकर्स के साथ और वाई-फ़ाई की सुविधा भी दी गई है.

Vistadome coach
Source: twitter

इनमें जीपीएस बेस्ड पैसेंजर इन्फ़ोर्मेशन सिस्टम, फ़ोल्ड होने वाली स्नैक टेबल, डेस्टिनेशन डिस्पले, सीसीटीवी और आटोमेटिक स्लाइडिंग वाले दरवाज़े भी लगे हैं. सीट्स के नंबर ब्रेल लिपी में भी लिखे गए हैं. 

Vistadome coach
Source: indianexpress

इनके अलावा इसमें एक मिनी पैंट्री, जिसमें कॉफ़ी मेकर, वॉटर कूलर, फ़्रिज और ओवन भी है. यात्रियों के सामान को रखने के लिए मल्टीलेयर लगेज कंपार्टमेंट भी बना है. इन कोच में यात्रा करने के बाद आपको ऐसा लगेगा जैसे आप किसी विदेशी ट्रेन में सफ़र कर रहे हैं.

Vistadome coach
Source: twitter

किराए की बात करें तो इसकी एक सीट का किराया क़रीब 900 रुपये है. फ़िलहाल 8 विस्टाडोम तैयार किए गए हैं. आने वाले समय में इनकी संख्या बढ़ा कर दूसरे रूट्स पर भी स्पेशल ट्रेन्स चलाने की प्लानिंग हैं. रेल विभाग इन्हें संभवत: लखनऊ और देहरादून रूट पर चला सकता है.