Whatsapp की नई पॉलिसी की वजह से अब लोगों की प्राइवेसी ख़तरे में नज़र आ रही है. Whatsapp की नई 'टर्म ऑफ़ पॉलिसी' और 'प्राइवेसी पॉलिसी' में जो नई बातें सामने आई हैं, उन्हें स्वीकार करने के बाद अब Whatsapp की अपने यूज़र्स पर हर वक़्त नज़र रहेगी. यूज़र्स के पास 'टर्म ऑफ़ पॉलिसी' और प्राइवेसी 'पॉलिसी' को ना कहने का कोई विकल्प ही नहीं होगा.  

Source: indiatoday

इसका मतलब अब से आप Whatsapp पर जो भी फ़ोटो, वीडियो और मैसेज फ़ॉरवर्ड करेंगे या फिर जो भी स्टेटस शेयर करेंगे सब कुछ Whatsapp के सर्वर पर स्टोर होगा. अब तक Whatsapp ये दावा करते आया था कि, वो फ़ेसबुक के साथ यूज़र्स का डाटा शेयर नहीं करता है, लेकिन अब ऐसा करेगा.  

Source: express

बता दें कि, 5 जनवरी से Whatsapp ने यूज़र्स को एक नोटिफ़िकेशन भेजना जारी कर दिया है. इस नोटिफ़िकेशन में उसने यूज़र्स को 'टर्म्स ऑफ़ सर्विस' और 'प्राइवेसी पॉलिसी' को स्वीकार करने के लिए 8 फ़रवरी तक का समय दिया है. अगर ये शर्तें नहीं मानी तो 1 महीने बाद Whatsapp ख़ुद ही आपका अकाउंट डिलीट कर देगा.  

Source: aa.com

ऐसे में अब यूज़र्स के पास Signal, Telegram और Viber तीन ऐसे मैसेजिंग ऐप हैं जो Whatsapp की जगह ले सकते हैं.  

1- Signal

वर्तमान में Signal को Whatsapp का सबसे अच्छा विकल्प माना जा रहा है. सिक्युरिटी और फ़ीचर्स के मामले में भी ये Whatsapp को कड़ी टक्कर देता नज़र आ रहा है. इससे आप ऑडियो-वीडियो कॉल कर सकते हैं. ये ऐप यूज़र्स के लिए पूरी तरह से फ़्री है, क्योंकि इसे एक नॉन प्रॉफ़िट ऑर्गनाइजेशन द्वारा चलाया जा रहा है.  

Source: androidauthority

क्या ख़ास बात है Signal की? 

इस मैसिजिंग ऐप को अमेरिकी क्रिप्टोग्राफ़र मोक्सी मार्लिंस्पाइक द्वारा बनाया गया है. जो Signal के सीईओ भी हैं. Signal प्रोटोकॉल ओपन-सोर्स है. ये ऐप थर्ड पार्टी के बैकअप को सपोर्ट नहीं करता है, जो इसकी सबसे अच्छी बात है. इसका मतलब है ये कि Signal के अलावा कोई भी तीसरा पक्ष आपके संदेश को पढ़ नहीं सकता है.  

2- Telegram  

पिछले कुछ सालों से Telegram भारतीय यूज़र्स के बीच फ़्री मूवी देखने के लिए ख़ासा पॉपुलर हो रहा है. इसे पहले से ही Whatsapp का सबसे अच्छा विकल्प माना जाता रहा है. इससे आप ऑडियो-वीडियो कॉल कर सकते हैं. ये ऐप यूज़र्स के लिए पूरी तरह से फ़्री है. Telegram ग्रुप्स के लिए भी काफ़ी पॉपुलर है. इसके एक ग्रुप में 2 लाख लोग हो सकते हैं.  

Source: tribunnews

क्या ख़ास बात है Telegram की? 

Telegram पूरी तरह से Encrypted है जो ओपन सोर्स पर चलता है. अगर आप इस ऐप पर सीक्रेट चाट करते हैं तो वो पूरी तरह से सुरक्षित है क्योंकि इसे सर्वर में स्टोर नहीं किया जा सकता. इस ऐप में आप अपनी सीक्रेट चैट को डेलीट करने के लिए टाइमर भी सेट कर सकते हैं. इस ऐप की सबसे ख़ास बात ये है इसकी सभी वीडियो कॉल एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड होती हैं. 

3- Viber 

Viber भी काफ़ी पॉपुलर मैसेंजिंग ऐप है, जो एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन को सपोर्ट करता है. इस ऐप में सभी प्रकार के मैसेज, फ़ोटो, ऑडियो व वीडियो कॉल और ग्रुप चैट एन्क्रिप्टेड होती हैं. इसका मतलब यूज़र्स की प्राइवेसी पूरी तरह से सुरक्षित होना है.  

Source: webwise

क्या ख़ास बात है Viber की? 

Whatsapp की तरह ही Viber में भी आपकी चैट गूगल ड्राइव में सेव रहती हैं. Viber भी Signal और Telegram की तरह ही फ़्री ऐप है. इस ऐप में भी आप ग्रुप बना सकते हैं जिसमें 250 मेंबर्स हो सकते हैं.