बीते रविवार को ड्रग्स कन्ट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (डीसीजीआई) ने दो कोरोनावायरस वैक्सीन(Bharat Biotech की Covaxin और AstraZeneca और Oxford University की Covisheild) को अप्रूवल दे दिया. सेन्ट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कन्ट्रोल ऑर्गनाइज़ेशन की कोविड-19 Subject Expert Committee (SEC) के रेकमेंडेशन्स के आधार पर ये अप्रूवल दिया गया. 

इस अप्रूवल के बाद भारतीयों को आने वाले दिनों में दो वैक्सीन मिलेंगे. वैक्सीन का इंतज़ार लगभग ख़त्म हो गया है और ऐसे में हमारे मन में कई प्रश्न आ रहे होंगे, कुछ प्रश्नों के उत्तर लेकर आये हैं- 

Source: Times of India

कब मिलेगा कोविड-19 वैक्सीन? 

Times of India की रिपोर्ट के अनुसार, वैक्सीन ट्रायल्स अपने अंतिम स्टेज पर है. बहुत सारे वैक्सीन का फ़ेज़ 3 ट्रायल चल रहा है. रेगुलेटरी क्लियरेंस मिलने के बाद सरकार वैक्सीन लॉन्च करेगी. 

सबसे पहले किसे मिलेगा कोविड-19 वैक्सीन ? 

India Today की रिपोर्ट के अनुसार, सबसे पहले हेल्थकेयर वर्कर्स और फ़्रन्टलाइन वर्कर्स को कोविड-19 वैक्सीन दिया जाएगा. रिपोर्ट्स के अनुसार इस सेक्शन को भी कई सब सेक्शन(चाइल्ड सर्विस वर्कर, नर्स, अफ़सर, पैरामेडिक) में बांटा गया है. इसके बाद 50 से ज़्यादा की उम्र के लोगों और Comorbidities (एक या अधिक बीमारियों से ग्रसित व्यक्तियों) और इसके बाद बाक़ी जनता को दिया जाएगा.  

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बीते शनिवार को बताया कि कोविड-19 वैक्सीनेशन के पहले फ़ेज़ में देशभर के 1 करोड़ हेल्थकेयर वर्कर और 2 करोड़ फ़्रन्टलाइन वर्कर्स को वैक्सीनेट किया जाएगा. 

वैक्सीन के लिए कैसे होगा रेजिस्ट्रेशन? 

The Indian Express की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत सरकार ने Co-Win (Covid Vaccine Intelligence Work) नामक एक एप्लीकेशन की घोषणा की थी. ये ऐप अभी फ़ंशनल नहीं है और अगर आपने ऐसा कोई ऐप डाउनलोड कर लिया है तो उसमें अपना पर्सनल डेटा न दें. ये ऐप अभी प्री-प्रोडक्शन स्टेज में है. इसमें हेल्थकेयर वर्कर्स का डेटा है जिन्हें पहले वैक्सीन दी जाएगी. 

फ़िल्हाल आम आदमी वैक्सीन के लिए रेजिस्टर नहीं कर सकता है और सिर्फ़ अधिकारियों के पास ही एक्सेस है.  

Source: Al Jazeera

कौन लगाएगा वैक्सीन? 

India Today की रिपोर्ट के अनुसार, वैक्सीनेशन टीम में 5 सदस्य होंगे: 

- वैक्सीनेशन ऑफ़िसर-डॉक्टर (MBBS/BDS), स्टाफ़ नर्स, फ़ार्मासिस्ट, ऑक्ज़िलरी नर्स मिडवाइफ़(एएनएम), लेडी विज़टर (एलएचवी), वो शख़्स जिसके पास इंजेक्शन लगाने का ऑथराइज़ेशन हो पोटेंशियल वैक्सीनेटर हो सकता है.
-  वैक्सीनेशन अफ़सर 1: कम से कम एक शख़्स (पुलिस, होम गार्ड, सिविल डिफ़ेंस, नेशनल कैडेट कॉर्प्स(एनसीसी), नेशनल सर्विस स्कीम(एनएसएस), नेहरू युवा केन्द्र संगठन(एनवाईकेएस) जो एंट्री पॉइंट पर बेनिफ़िश्यरी का रेजिस्ट्रेशन स्टेटस चेक करेंगे और वैक्सीनेशन सेशन में रेगुलेटेड एंट्री सुनिश्चित करेंगे.
- वैक्सीनेशन अफ़सर 2: ये पहचान पत्र का वेरिफ़िकेशन करेंगे.
- वैक्सीनेशन अफ़सर 3 और 4: 2 सपोर्ट स्टाफ़ भीड़ को कन्ट्रोल करने में सहायता करेंगे और वैक्सीनेशन के बाद केन्द्र में बेनिफ़िश्यरी का 30 मिनट तक रुकना सुनिश्चित करेंगे. सपोर्ट स्टाफ़ वैक्सीनेटर और वैक्सीनेशन टीम को इन्फ़ोर्मेशन, एजुकेशन और कम्युनिकेशन (आईइसी) मैसेजेस देंगे.

Source: India Today

कहां और कैसे मिलेगी वैक्सीन? 

कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रक्रिया, चुनाव प्रक्रिया के जैसी ही होगी, कहती है India Today की रिपोर्ट. रजिस्टर्ड बेनिफ़िश्यरी के नंबर्स और प्रायोरिटी के अनुसार वैक्सीनेशन सेशन प्लान किया जाएगा.  

- 100 बेनिफ़िश्यरी के लिए 100 सेशन होंगे. 
- ज़्यादातर हेल्थकेयर वर्कर और फ़्रन्टलाइन वर्कर्स को फ़िक्स्ड सेशन साइट पर वैक्सीनेट किया जाएगा. ये साइट्स सरकारी हेल्थ फै़सिलिटी या ज़िला अधिकारियों द्वारा चिन्हित प्राइवेट हेल्थ फ़ैसिलिटी में हो सकते हैं.  
- हाइ-रिस्क ज़ोन्स में वैक्सीनेशन के लिए आउटरीच सेशन साइट और मोबाईल साइट्स/टीम्स की ज़रूरत पड़ सकती है. 
- राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश वैक्सीनेशन के लिए स्पेसिफ़िक दिन चिन्हित कर सकते हैं.  

वैक्सीन की कितने डोज़ लेने होंगे? 

The Times of India की रिपोर्ट के अनुसार, वैक्सीन शेड्यूल पूरा करने के लिए 28 दिन के अंतराल पर 2 वैक्सीन लेना होगा. 

Source: NDTV

एंटिबॉडिज़ कब विकसित होंगे? 

एंटिबॉडिज़ के प्रोटेक्टिव लेवल कोविड-19 वैक्सीन के दूसरे डोज़ लेने के 2 हफ़्ते में विकसित हो जाएंगे.  

क्या वैक्सीन लेना अनिवार्य है? 

वैक्सीन आप अपनी इच्छानुसार ले सकते हैं. ग़ौरतलब है कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने कोविड-19 का पूरा वैक्सीन शेड्यूल लेने की हिदायत दी है. अपनी और दूसरों की सुरक्षा के लिए कोविड-19 वैक्सीन लेने की सलाह दी गई है.