Uttarakhand's Ronaldo Hemraj Johri: फ़ुटबॉल (Football) के खेल में एक गोल होता है जिसे ओलंपिक गोल (Olympic Goal) कहा जाता है. इसका मतलब होता है कार्नर से किक मारकर फ़ुटबॉल को सीधे गोल पोस्ट में पहुंचा कर गोल करना. ये गोल करना बहुत मुश्किल होता है और बहुत मंझे हुए खिलाड़ी ही ऐसा कर पाते हैं.

football
Source: thestatesman

ऐसा ही एक गोल करने वाला लड़का सोशल मीडिया पर छा गया है. उत्तराखंड का एक फ़ुटबॉलर, जिसे लोग इंडिया का मेसी और रोनाल्डो (Uttarakhand's Ronaldo Hemraj Johri) कह रहे हैं. इस प्रतिभाशाली लड़के का वीडियो उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी शेयर कर इनकी तारीफ़ की है. पहले आप वायरल वीडियो देख लीजिए:

ये भी पढ़ें:  मोहन बागान: वो फ़ुटबॉल टीम जिसने अंग्रेज़ों को हराकर लिया था भारतीयों के उत्पीड़न का बदला 

अब आपको बताते हैं कि ये लड़का कौन है (Uttarakhand's Ronaldo Hemraj Johri)

hemraj johri footballer
Source: gnttv

14 सेकेंड के वीडियो में कॉर्नर गोल कर वाहवाही लूट रहे इस फ़ुटबॉलर का नाम है हेमराज जोहरी (Hemraj Johri). ये उत्तराखंड के सीमांत क्षेत्र मुनस्यारी के रहने वाले हैं. 15 साल के प्रतिभावान खिलाड़ी हेमराज के पिता दर्ज़ी हैं. इनके परिवार में माता-पिता के अलावा 4 बहने भी हैं.

ये भी पढ़ें:  इन 10 तस्वीरों में देखिए आपके चहेते फ़ुटबॉल प्लेयर्स कैसे-कैसे आलीशान घरों में रहते हैं 

हेमराज जोहरी (Hemraj Johri) ने बिना जूतों के खेलना शुरू किया था

hemraj johri
Source: gnttv

एक रिपोर्ट के मुताबिक, हेमराज जब 10 साल के थे तब उन्होंने फ़ुटबॉल खेलना शुरू किया था. खेल का ऐसा ज़ुनून उन पर सवार था कि वो बिना जूतों के ही ये गेम खेलत थे क्योंकि इनके परिवार की आर्थिक स्थिति कुछ ठीक नहीं है.

डाइट के लिए भी नहीं होते पैसे

footballer hemraj johri
Source: twitter

हेमराज ने बताया कि उनका परिवार बहुत ग़रीब है. इसलिए जब भी वो घर जाते हैं तो उन्हें अपनी डाइट पूरी करने में मुश्किल होती है क्योंकि उनके पिता के पास इतने पैसे नहीं होते कि वो उन्हें एक खिलाड़ी वाली डाइट खिला सकें. मगर इसे भी दरकिनार करते हुए भी हेमराज ने खेलना जारी रखा. उन्होंने मुनस्यारी बॉयज़ से खेलना शुरू किया था. इस फ़ुटबॉल क्लब ने ही पहली बार इन्हें फ़ूटबॉल शू दिलवाए थे. 

गांव में नहीं है कोई खेल मैदान

footballer
Source: gnttv

हेमराज जोहरी (Hemraj Johri) गांधी नगर गांव में रहते हैं वहां कोई फ़ुटबॉल ग्राउंड नहीं है. इसलिए इन्होंने एक सीढ़ीदार खेत को समतल कर उसे ग्राउंड बनाया और उसी पर प्रैक्टिस करनी शुरू की. उनके पिता का सपना है कि वो एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर के फ़ुटबॉलर बने. हेमराज इस सपने को पूरा करने में जी-जान से लगे हुए हैं. इस वायरल वीडियो के बाद हेमराज का एक और वीडियो सामने आया है.

सीएम से की ये अपील 

इस वीडियो में वो राज्य के सीएम पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) से एक अपील की है. उन्होंने कहा- 'मैं मुख्यमंत्री जी से कहना चाहता हूं कि मुनस्यारी में जोहार क्लब को छोड़कर एक और ग्राउंड बनवा दें. ताकि और बच्चे भी अच्छे से खेल पाएं और अपना हुनर भी दिखा पाएं'.

हमारे देश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है बस देर है तो उन्हें तलाश/निखार कर सही राह दिखाने की.